ब्रेकिंग उत्तराखंड : चमोली में ग्लेशियर आपदा में 384 लोगों को बचाया, अब तक आठ शव मिले, सीएम ने किया हवाई दौरा

0
file photo
Ad

चमोली। चमोली जिले के नीती घाटी के सुमना में बर्फबारी के बाद ग्लेशियर टूटने की घटना के बाद अब तक आठ शवों को बरामद किया जा चुका है जबकि 384 लोगों को सुरक्षित निकाला जा चुका है।
शुक्रवार की शाम लगभग 4 बजे तिब्बत चाइना बॉर्डर पर ग्लेशियर सुमना – रिमखिम सड़क पर सुमना से लगभग 4 किमी दूर एक स्थान पर टूटा । इस बीच सीएम तीरथ सिंह रावत ने आपदाग्रस्त इलाके का हवाई दौरा किया है।
सड़क निर्माण कार्य के लिए पास में एक बीआरओ टुकड़ी और दो श्रमिक शिविर मौजूद हैं। एक सेना शिविर सुमना से 3 किलोमीटर (बीआर सुमना डिटेल से लगभग 1 किलोमीटर छोटा) स्थित है।
इस क्षेत्र में पिछले 5 दिनों से भारी बारिश और लगातार हिमपात हो रहा है।
भारतीय सेना द्वारा तुरंत बचाव अभियान शुरू किया गया। 384 मजदूरों को सुरक्षित बचा लिया गया है और उन सभी को आर्मी कैप में रखा गया है। दोनों शिविरों में अन्य मजदूरों का पता लगाने के लिए बचाव अभियान जारी है। अब तक आठ शव बरामद किए गए हैं।
मल्टीपल लैंड स्लाइड के कारण 4 से 5 स्थानों पर सड़क की कट जाती है। जोशीमठ से बीआरटीएफ की टीमें बीती शाम से भापकुंड से लेकर सुमना तक की स्लाइड्स को साफ करने में लगी हैं। इस पूरे इलाके को साफ करने में 6 से 8 घंटे लगने की उम्मीद है।
इस सम्बंध में सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) के कमांडेंट मनीष कपिल ने ग्लेशियर टूटने की अधिकारिक पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि ग्लेशियर टूट कर बीआरओ के समीप सड़क पर आ गया है।

Ad

कई दिनों से लगातार हो रही है बर्फबारी बीते दिनों से मौसम खराब व भारी बर्फबारी होने के कारण क्षेत्र में संचार माध्यम काम नही कर रहे हैं, वही इस बार नीति घाटी में लगातार भारी बर्फबारी हो रही है। जिससे सीमा पर तैनात सेना के आवागमन में बाधा भी उत्पन्न हो रही है।

Ad
यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी…विश्वासघात: व्यवसाय हड़पने व ठगी करने का आरोप लगाया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here