शादी में शामिल हुए 95 लोग निकले कोरोना पॉजिटिव, दुल्हन के पिता की मौत

0
सांकेतिक फोटो
Ad

स्यालू कला/राजस्थान। राजस्थान के एक गांव में एक दिन में 95 लोगों को कोरोना हुआ, तो दहशत का सन्नाटा छा गया। झुंझनु जिले के स्यालू कला गांव में तीन शादियों में शामिल हुए 150 लोगों की कोरोना जांच की गई। जिसमें 95 लोग पॉजिटिव निकले। इतना ही नहीं शादी के दौरान दुल्हन के पिता की भी मौत हो गई। इसके बाद से आसपास के गांवों में डर का माहौल है।

Ad

स्यालू कला गांव के रहने वाले सुरेंद्र शेखावत का कहना है जब उन लोगों के कोरोना की जांच हुई थी तब गांव के 95 लोग पॉजिटिव गए थे। 25 अप्रैल को तीन शादियां थी और इस दौरान दुल्हन के पिता की मौत भी हो गई। पहले गांव के लोग कोरोना को नहीं मानते थे और खुलेआम घूमते रहते थे। जब हर किसी जांच की गई तो तभी यहां पर डर का माहौल है और लोग अपने घरों के अंदर बैठे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  कालाढूंगी…पांच हजार रूपये लेने बाजपुर गया व्यक्ति डेढ़ माह से लापता, बेटे की शिकायत पर एक के खिलाफ हत्या का केस दर्ज

गांवों में पूरी तरह से सन्नाटा पसरा हुआ है, सड़के खाली हैं, बच्चे घरों के अंदर बंद है और लोग जरूरी काम से ही बाहर निकल रहे हैं। राजस्थान सरकार ने शादी समारोह पर में सिर्फ 11 लोगों के शामिल होने की छूट दी हुई है। नियम तोड़ने पर 1 लाख रुपये जुर्माना करने का नियम भी है। बावजूद इसके लोग इन नियमों की पूरी तरह से अनदेखी की। जिसका खामियाजा दूसरे लोगों को भी भुगतना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  ऋषिकेश… बेटी का शव देखकर फफक पड़े अंकिता के परिजन

गांव वालों का कहना है कि शादियों में भीड़भाड़ की वजह से यहां की स्थिति हो गई है। लोगों को लगता था कि कोरोना सिर्फ शहर तक ही सीमित रहेगा। इसलिए सब बेखबर थे पर गांव में हो रही मौतों ने हर किसी परेशन कर दिया है। अब लोग इसकी गंभीरता को समझ रहे हैं और अपना बचाव करने की कोशिश में जुटे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  मोटाहल्दू…पाडलीपुर से पहले खड़कपुर गांव में भी एक घर में घुसी थी अंजान युवती, बच्चे पर थी नजर, सीसीटीवी कैमरे में हुई कैद

कोरोना की तीसरी लहर बच्चों के लिए ज्यादा खतरनाक बताई जा रही है, ऐसे में गांव के लोगों का डर बढ़ गया है। परिजन अपने बच्चों को बाहार निकलने नहीं दे रहे हैं। राजस्थान के ज्यादातर गांवों की स्थिति खराब है, प्रशासन अपनी तरफ से पूरी कोशिश करने लगा है कि कोरोना की चैन को तोड़ा जाए। साथ ही गांव के लोगों को इस खतरनाक बीमारी से कैसे अपने आपको बचाया जाए इसे लेकर जागरूक करने में लगा है।

Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here