एम्स ऋषिकेश का शांतिनगर व शीशमझाड़ी में जनजागरुकता कार्यक्रम

0
Ad

ऋषिकेश। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में बीती एक अप्रैल से शुरू हुए स्वच्छता पखवाड़े के तहत कोविड–19 कम्युनिटी टास्क फोर्स ने ऋषिकेश नगर क्षेत्र के शांतिनगर व मुनिकीरेती के शीशमझाड़ी क्षेत्र में एक दिवसीय जनजागरुकता कार्यक्रम का आयोजन किया। जिसमें बढ़ते हुए कोविड संक्रमण के मद्देनजर आयोजित जनजागरुकता कार्यक्रम में लोगों को स्वच्छता का महत्व बताया गया। इस दौरान लोगों को अपने आसपास साफ सफाई रखने को कहा गया साथ ही इस महामारी के समय में स्वच्छता से होने वाले फायदे गिनाए गए। एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत की देखरेख में एम्स संस्थान की ओर से आयोजित स्वच्छता पखवाड़े के अंतर्गत शनिवार को नगर क्षेत्र में जनसामान्य के बीच जनजागरुकता कार्यक्रम आयोजित किया गया।

Ad

इस अवसर पर नोडल अधिकारी डा. संतोष कुमार ने बताया कि कोविड के सदमे से उभरते ही हम डेगू जैसी महामारी से भी ग्रसित हो सकते हैं। ऐसे में समय रहते हुए कोविड के प्रकोप में सावधानियां जैसे मास्क पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग को बनाए रखने के साथ साथ अपने घरों के आसपास कहीं भी पानी को इकट्ठा नहीं होने दें। साथ ही आसपास की गंदगी व कूड़े का निराकरण नियमिततौर पर करें। कारण बढ़ते हुए कोविड संक्रमण में हम अन्य बीमारियों से भी ग्रसित नहीं हो जाएं।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी…अमानत में खयानत : 5 लाख कर्ज देने के नाम पर पांच तोला सोना, नकदी और ब्लैंक चेक रख लिया, केस दर्ज

प्रदेश की ताजा खबरों के लिए जुड़े व्हाट्स एप ग्रुप से 👉 Click Now 👈

इस अवसर पर नगर निगम से आग्रह किया गया कि कोविड-19 के बढ़ते प्रकोप में स्वच्छता पर विशेष ध्यान दें, जो कि आने वाले समय में बीमारियों की रोकथाम में अहम भूमिका निभाएगी। उन्होंने बताया कि भारत सरकार द्वारा एक से 15 अप्रैल तक जो स्वच्छता पखवाड़ा आयोजित किया जा रहा है, उसके अंतर्गत एम्स परिसर में भी स्वच्छता अभियान चलाया जा रहा है। जिसमें डेंगू की रोकथाम के लिए भी कारगर रणनीति तैयार की गई है,जिसका क्रियान्वयन भी शुरू कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड… त्योहारी सीजन में ट्रेनें फुल होने से बढ़ेंगी रेल यात्रियों की मुश्किलें, इन ट्रेनों में बढ़ी वेटिंग लिस्ट

गौरतलब है कि एम्स ऋषिकेश के कम्यूनिटी एंड फेमिली मेडिसिन विभाग द्वारा डेंगू की रोकथाम के लिए वर्ष 2018 में सेवन प्लस अभियान शुरू किया गया था,जो कि क्षेत्र में डेंगू के नियंत्रण में काफी मददगार साबित हुआ था। उन्होंने बताया कि वर्तमान में कोविड अप्रूपिएट बिहेवियर को ध्यान में रखते हुए इस बार भी डेंगू की रोकथाम के लिए सेवन प्लस अभियान का आगाज कर दिया गया है। शांतिनगर में जैन मंदिर क्षेत्र में जनसामान्य को बताया गया कि बढ़ते कोविड के प्रकोप में हमें स्वच्छता पर ध्यान रखना जरुरी है। हर स्थान पर कारण कोविड मरीजों की जिस तरह संख्या बढ़ रही है, इस दौर में हमें स्वच्छता की अनदेखी कर अन्य बीमारियां भी हो सकती हैं। लिहाजा इस दौरान स्वच्छता का विशेष ध्यान रखें व कोविड महामारी को कंट्रोल करने में विशेष ध्यान रखें।
इस अवसर एम्स ऋषिकेश संस्थान के नोडल अधिकारी डॉ. संतोष कुमार, डॉ. भीमदत्त सेमवाल, डॉ. नवीन, संध्या, पंकज आदि मौजूद थे।

Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here