हरिद्वार ब्रेकिंग : निरंजनी अखाड़े के बाद अब उसके सहयोगी आनंद अखाड़े ने भी की उनके लिए कुंभ समाप्ति की घोषणा

0
Ad

हरिद्वार। कोरोना की दूसरी लहर बढ़ने और पूरे देश में स्थिति भयावह होने से श्री पंचायती
निरंजनी अखाड़ा और इसके साथी आनंद अखाड़े ने भी कुंभ मेले के तीसरे शाही स्नान को अपना अंतिम शाही स्नान बताते हुए साफ कर दिया है कि आनंद अखाड़े के लिए भ्ज्ञी कुंभ पूरा हो चुका है। यह घोषणा करते हुए, आचार्य महामंडलेश्वर कैलाशानंद गिरि और सचिव महंत रविंद्र पुरी ने कहा, वैशाखी पर्व पर मुख्य शाही स्नान संपन्न हुआ है। इसके साथ ही अखाड़े के कई संतों और भक्तों में कोरोना के लक्षण दिखाई पड़ रहे हैं। इसीलिए निरंजनी अखाड़े के सहयोगी आनंद अखाड़े ने भी कुंभ से वापसी का ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि यह अखाड़ा परिषद का नहीं बल्कि उनके अखाड़े का व्यक्तिगत निर्णय है। उन्होंने कहा कि जिले से बाहर से आए साधुओं को अपने आश्रमों में लौटने के लिए कहा गया है।

Ad

ताजा खबरों के लिए जुड़े व्हाट्स एप ग्रुप से 👉 Click Now 👈

यह भी पढ़ें 👉  मोटाहल्दू…राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय बागजाला में हाथियों की दस्तक, दीवार तोड़ी

“कैलाशानंद गिरि ने आगे कहा कि जो भी अखाड़ा परिषद का फैसला होगा, 27 अप्रैल का शाही स्नान होगा उसी के अनुरूप। निरंजनी अखाड़ा के सचिव महंत रवींद्र पुरी ने कहा,’जब से कोविड -19 महामारी तेजी से बढ़ रही है पवित्र शहर, इसलिए हमने तय किया है कि गंगा में केवल 20 साधु पवित्र डुबकी लगाएंगे। हमने अपील की है मेला आईजी संजय गुंज्याल ने कहा, “आनंद और निरंजनी अखाड़े ने जो फैसला लिया है, वह उनउनका व्यक्तिगत निर्णय है। हमारे लिए मेला आधिकारिक तौर पर कुंभ मेला 30 अप्रैल को बंद हो जाएगा। साधुओं की संख्या के आधार पर, हम पुलिस बलों की तैनाती करेंगे।

Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here