More
    Homeअपराधउत्तराखंड ब्रेकिंग : कोरोनाकाल में दवाइयों की कालाबाजारी जोरों पर, एक गिरफ्तार

    उत्तराखंड ब्रेकिंग : कोरोनाकाल में दवाइयों की कालाबाजारी जोरों पर, एक गिरफ्तार

    spot_imgspot_imgspot_img

    नारायण सिंह रावत
    सितारगंज। पुलिस ने दवाईयों की कालाबाज़ारी में एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। उसके कब्जे से कोरोना के इलाज में प्रयोग छपने वाली दवाइयां बरामद हुईं हैं। जिनकी कीमत करीब दो लाख रुपये है।

    सीओ खटीमा मनोज ठाकुर ने अपने सर्किल के प्रत्येक थानों में थाना प्रभारी के नेतृत्व में दवाइयों, ऑक्सीजन व आवश्यक वस्तुओं की कालाबाजारी रोकने के लिए टीमों का गठन किया गया था। थानाध्यक्ष नानकमत्ता के नेतृत्व में चेकिंग के दौरान बाजार में भारत गैस एजेन्सी के सामने कार संख्या UK06-B3391 को पकड़ा और कार के अन्दर पांच पेटीयों में कोरोना बीमारी की रोकथाम में प्रयोग की जाने वाली जैनेरिक दवाईयां व इंजेक्शन बरामद किया। इस दौरान पुलिस ने अभियुक्त रंजीत सिंह कम्बोज पुत्र मीता सिंह निवासी नकुलिया थाना सितारगंज को गिरफ्तार किया।

    आरोपी ने पूछताछ में बताया कि खिंडा मेडिकल स्टोर नकुलिया सितारगंज से नानकमत्ता क्षेत्र के हरनीत मेडिकल व तिलकधारी मेडिकल स्टोर प्रतापपुर को बिना बिल के दवाइयां बेचने आया था। उक्त मेडिकल स्टोर के स्वामीयों क्रमशः हरनीत मेडिकल के स्वामी रंजीत सिंह पुत्र बलवीर सिंह निवासी बलखेड़ा नानकमत्ता व तिलकधारी मेडिकल स्टोर के स्वामी हीरामन विश्वास पुत्र आशुतोष विश्वास निवासी प्रतापपुर नं.- 4 से पूछताछ करने पर उक्त द्वारा अभियुक्त से ऐसी कोई भी दवा मंगाने की बात से इंकार किया गया। पुलिस ने रंजीत सिहं के विरुद्ध थाना मुकदमा दर्ज कर लिया।

    अभियुक्त के विरुद्ध ड्रग एवं कॉस्मेटिक एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए सुधीर कुमार ड्रग इंस्पेक्टर और GST की चोरी पर की जांच के लिए राज्य कर अधिकारी खटीमा को रिपोर्ट भेजी गई है। टीम को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने 2500 का इनाम देने की घोषणा की है।

    बरामदा माल
    आरोपी के पास से पुलिस ने कार संख्या UK04-B33912, पांच अलग-अलग पेटीयों में कोरोना महामारी के ईलाज में प्रयोग होने वाली दवाइयां, मेडाकफ सीरप 175, पैन्टापेन व जोयक्लेप व मीकास्कॉट इंजेक्शन 100, पेरासिटामॉल-1000 टैबलेट, मोन्टरजिप-500 टैबलेट, कैपमॉक्स मेडॉरफ डी.एस.आर. कैप्सूल, मिन्सस्पीड, फ्रीजकोल्ड, एल्बोडिन, विलहेण्ड सेनेटाईजर, मेडोरिस पाउडर, ऐक्वाफास्ट प्लस, ऐक्यूमेन्टिक्स, ऐसेटविड, मैजिकथ्रो, कफवेदा, जिलोजिनी, साईपॉवल आदि की लगभग 5000 गोलियां बरामद की गईं। बरामद दवाईयों की कीमत करीब दो लाख रुपये है। पुलिस टीम में थानाध्यक्ष कमलेश भट्ट, प्रकाश आर्या, हेम चन्द्र फुलारा, पंकज बिनवाल शामिल रहे।

    India : Covid update
    43,391,331
    Total confirmed cases
    Updated on June 25, 2022 9:48 pm
    - Advertisment -spot_imgspot_img
    spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    UPDATES

    UTTARAKHAND

    Recent Comments :

    उत्तराखंड ब्रेकिंग : कोरोनाकाल में दवाइयों की कालाबाजारी जोरों पर, एक गिरफ्तार

    नारायण सिंह रावत
    सितारगंज। पुलिस ने दवाईयों की कालाबाज़ारी में एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। उसके कब्जे से कोरोना के इलाज में प्रयोग छपने वाली दवाइयां बरामद हुईं हैं। जिनकी कीमत करीब दो लाख रुपये है।

    सीओ खटीमा मनोज ठाकुर ने अपने सर्किल के प्रत्येक थानों में थाना प्रभारी के नेतृत्व में दवाइयों, ऑक्सीजन व आवश्यक वस्तुओं की कालाबाजारी रोकने के लिए टीमों का गठन किया गया था। थानाध्यक्ष नानकमत्ता के नेतृत्व में चेकिंग के दौरान बाजार में भारत गैस एजेन्सी के सामने कार संख्या UK06-B3391 को पकड़ा और कार के अन्दर पांच पेटीयों में कोरोना बीमारी की रोकथाम में प्रयोग की जाने वाली जैनेरिक दवाईयां व इंजेक्शन बरामद किया। इस दौरान पुलिस ने अभियुक्त रंजीत सिंह कम्बोज पुत्र मीता सिंह निवासी नकुलिया थाना सितारगंज को गिरफ्तार किया।

    आरोपी ने पूछताछ में बताया कि खिंडा मेडिकल स्टोर नकुलिया सितारगंज से नानकमत्ता क्षेत्र के हरनीत मेडिकल व तिलकधारी मेडिकल स्टोर प्रतापपुर को बिना बिल के दवाइयां बेचने आया था। उक्त मेडिकल स्टोर के स्वामीयों क्रमशः हरनीत मेडिकल के स्वामी रंजीत सिंह पुत्र बलवीर सिंह निवासी बलखेड़ा नानकमत्ता व तिलकधारी मेडिकल स्टोर के स्वामी हीरामन विश्वास पुत्र आशुतोष विश्वास निवासी प्रतापपुर नं.- 4 से पूछताछ करने पर उक्त द्वारा अभियुक्त से ऐसी कोई भी दवा मंगाने की बात से इंकार किया गया। पुलिस ने रंजीत सिहं के विरुद्ध थाना मुकदमा दर्ज कर लिया।

    अभियुक्त के विरुद्ध ड्रग एवं कॉस्मेटिक एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए सुधीर कुमार ड्रग इंस्पेक्टर और GST की चोरी पर की जांच के लिए राज्य कर अधिकारी खटीमा को रिपोर्ट भेजी गई है। टीम को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने 2500 का इनाम देने की घोषणा की है।

    बरामदा माल
    आरोपी के पास से पुलिस ने कार संख्या UK04-B33912, पांच अलग-अलग पेटीयों में कोरोना महामारी के ईलाज में प्रयोग होने वाली दवाइयां, मेडाकफ सीरप 175, पैन्टापेन व जोयक्लेप व मीकास्कॉट इंजेक्शन 100, पेरासिटामॉल-1000 टैबलेट, मोन्टरजिप-500 टैबलेट, कैपमॉक्स मेडॉरफ डी.एस.आर. कैप्सूल, मिन्सस्पीड, फ्रीजकोल्ड, एल्बोडिन, विलहेण्ड सेनेटाईजर, मेडोरिस पाउडर, ऐक्वाफास्ट प्लस, ऐक्यूमेन्टिक्स, ऐसेटविड, मैजिकथ्रो, कफवेदा, जिलोजिनी, साईपॉवल आदि की लगभग 5000 गोलियां बरामद की गईं। बरामद दवाईयों की कीमत करीब दो लाख रुपये है। पुलिस टीम में थानाध्यक्ष कमलेश भट्ट, प्रकाश आर्या, हेम चन्द्र फुलारा, पंकज बिनवाल शामिल रहे।

    India : Covid update
    43,391,331
    Total confirmed cases
    Updated on June 25, 2022 9:48 pm
    - Advertisment -spot_imgspot_img
    spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    UPDATES

    UTTARAKHAND

    Recent Comments :