केंद्र ने सोशल मीडिया से भारतीय कोविड वैरिएंट का जिक्र करने वाले कंटेंट को हटाने को कहा

0
सांकेतिक फोटो
Ad

नई दिल्ली। इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स से उन सभी कंटेंट को तुरंत हटाने के लिए कहा है, जो कोरोनावायरस के भारतीय कोविड वैरिएंट को संदर्भित करती हैं।

Ad

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स के लिए एक एडवाइजरी में एमईआईटी ने कहा कि यह फर्जी खबरों, प्लेटफॉर्म पर कोरोनावायरस से संबंधित गलत सूचनाओं पर अंकुश लगाने के लिए पहले की सलाह के अनुरूप है।

यह भी पढ़ें 👉  सुप्रभात…आज का पंचांग, आज का इतिहास, मां शैलपुत्री की महिमा सुनें और आचार्य पंकज पैन्यूली से जानें आज का राशिफल

मंत्रालय ने कहा कि यह उसके संज्ञान में आया है कि एक झूठा बयान ऑनलाइन प्रसारित किया जा रहा है, जिसका अर्थ है कि कोरोनावायरस का एक भारतीय कोविड वैरिएंट पूरे देश में फैल रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  पिथौरागढ़…पार्टनरशिप में शराब का व्यवसाय करने का झांसा देकर हड़पे 34 लाख, लाभांश तो दूर अब आबकारी विभाग ने काट दी आरसी, केस दर्ज

मंत्रालय ने कहा, यह पूरी तरह से गलत है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा वैज्ञानिक रूप से कहे जाने वाले कोविड 19 का ऐसा कोई संस्करण नहीं है। डब्ल्यूएचओ ने अपनी किसी भी रिपोर्ट में भारतीय कोविड वैरिएंट शब्द को कोरोनवायरस के बी 1617 वैरिएंट के साथ नहीं जोड़ा है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी… रेलवे ग्राफ डी परीक्षा में ब्ल्यूट्रूथ लेकर बैठा परीक्षार्थी पकड़ा, पुलिस को सौंपा

यह स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा 12 मई को पहले ही स्पष्ट किया जा चुका है और अब सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से उन सभी सामग्रियों को हटाने के लिए कहा गया है जो कोविड के भारतीय कोविड वैरिएंट को संदर्भित करती हैं।

Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here