देहरादून : सीटू ने मनाया मई दिवस

0

देहरादून। सेंटर ऑफ इंडियन ट्रेड यूनियन्स (सीटू) तथा ऐटक, बैंक, रक्षा क्षेत्र, बीमा व अन्य यूनियनों ने आज मई दिवस मनाया गया। संयुक्त मई दिवस समारोह समिति के आह्वान पर कोरोना महामारी के चलते आज मई दिवस को सभी संगठनों के द्वारा आपने-अपने कार्यस्थलों पर झंडा रोहण कर मई दिवस के शहीदों को श्रधंजलि दी गयी।

इस अवसर पर सीटू के जिला महामंत्री लेखराज ने बताया कि इस बार मई दिवस को अलग-अलग स्थानों पर मनाया गया जिसमें सीटू ने राजपुर रोड स्थित अपने जिला कार्यालय पर झंडा रोहण कर मई दिवस के शहीदों को पुष्पांजलि अर्पित कर उनकी शहादत को याद किया गया।

इस अवसर पर उन्होंने कहा कि सीटू मजदूरों के हितों के लिए हमेशा संघर्ष करती रहेगी उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष मोदी सरकार की गलत नीतियों के कारण लॉकडाउन के चलते बड़ी संख्या में मजदूरों की जाने गयी थी जिस कारण कई करोड़ मजदूरों की नौकरियां व रोजगार समाप्त हो गया था जिस कारण मजदूरों के सामने भुखमरी के हालात पैदा हो गए थे किंतु सरकार द्वारा मजदूरों की रोजी रोटी का इंतजाम करने के बजाए मानसून सत्र में गैर जनतांत्रिक तरिके से व मजदूरों के भारी विरोध के बावजूद आपदा को पूंजीपतियों के पक्ष में अवसर में बदला गया जिसमें 29 श्रम कानूनों रद्द कर चार श्रम सहिंताये बना दी गयी जिसे सरकार द्वारा 31 मर्व 2021 तक लागू करने का प्रयास करती रही किन्तु मजदूर संगठनों के भारी विरोध के चलते इसे लागू नहीं कर सकी।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी…BREAKING NEWS: कुक व उसके बेटों ने वन निगम के प्रभागीय विक्रय प्रबंधक घर— आफिस में जा कर गरियाया, चप्पल फेंकी, केस दर्ज

उन्होंने कहा कि 1 मई 1886 को काम के घंटे निर्धारित करने को लेकर शिकागो शहर में आंदोलन में बड़ी संख्या में पुलिस की गोली से शहिद हुए मजदूरों की याद में मई दिवस को मनाया जाता है और पर दुनिया की सरकारों द्वारा काम के घंटे 8 किये गए वर्तमान में भारत की मोदी सरकार द्वारा काम के घण्टे बढ़ा कर 12 किये जा रहे है जिसे मजदूर कभी लागू नई होने देगा। इसी प्रकार श्रमिको के विभिन्न श्रम कानूनों को बड़ी शहादतों व कुर्बानियो के बाद हासिल किए गए थे जिसे मोदी सरकार के द्वारा समाप्त किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी…ब्रेकिंग : पति व बच्चों के साथ इवनिंग वाक को निकली महिला को कार सवारों ने कहा आई लव यू, दी फ्लाइंग किस, पति ने टोका तो धुन गए

इस अवसर पर सीटू के कोषाध्यक्ष रविन्द्र नौडियाल, उपाध्यक्ष राम सिंह भंडारी, अतुल कुमार उपस्थित थे। दूसरा कार्यक्रम गांधी ग्राम कांवली रोड स्थित सीटू के प्रांतीय कार्यालय पर सीटू के प्रांतीय कार्यकारी अध्यक्ष कमरेड राजेन्द्र सिंह नेगी ने झंडा रोहण किया। इस अवसर पर प्रान्तीय कार्यकारी अध्यक्ष कमरेड राजेन्द्र सिंह नेगी द्वारा में कहा गया कि केंद्र व राज्य की भाजपा शासित सरकार कोविड से लड़ाई में फेल हो चुकी है जिस कारण स्वास्थ्य सेवाओ का बुरा हाल है गरीब मर रहा है उसके इलाज की कोई व्यवस्था नहीं है जिससे प्रवासी मजदूरों के सामने रोजी-रोटी का संकट तो पैदा हो ही गया है वही इलाज न मिलने से बड़ी संख्या में मौते हो रही है जिसे सरकार छुपा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार का हमला मजदूरों पर है जिस कारण मजदूर गुलामी की ओर धकेला जा रहा है जिसका वर्तमान में मई दिवस की प्रासंगिकता ओर अधिक बढ़ जाती है और देश का मजदूर एक दिन इस भ्रष्ट निजाम को उखाड़ फेंकेगा।

यह भी पढ़ें 👉  अल्मोड़ा…कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष बिट्टू ने कांग्रेसजनों संग किये डा. अम्बेडकर को श्रद्धासुमन अर्पित

इस अवसर पर लेखराज, अर्जुन रावत, रामराज रविन्द्र नौडियाल, अनन्त आकाश, मामचंद अतुल नौडियाल आदि उपस्तिथ थे। इस अवसर पर लेखराज ने बताया कि सीटू से सम्बद्ध संविदा श्रमिक संघ हथियारी, जुड़ो, लांघा रोड स्थित टॉब्रोस उद्योग, सहस पुर स्थित जी.बी.स्प्रिंग, मसूरी, ऋषिकेश, डोईवाला आदि स्थानों पर सीटू का झंडा रोहण कर मई दिवस के शहीदो को श्रधंजलि दी गयी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here