बागेश्वर न्यूज : जिलाधिकारियों की वर्चुअल बैठक में बोले सीएम — कोविड केयर सेंटरों को मजबूत करें, बिना जांच के कोई न घुसे जनपद में

0
file photo
Ad

बागेश्वर। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने जिलाधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिग द्वारा प्रदेश में कोविड की स्थिति की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड को लेकर जारी किए गए दिशा निर्देशों का पालन पूरी सख्ती से कराया जाए। हर जिले में कोविड केयर सेंटरों को मजबूत किया जाए। राज्य व जनपदों की सीमाओं पर पूरी गम्भीरता से चैकिंग की जाए। प्रदेश में आने वाले दूसरे राज्यों के लोगों को आरटीपीसीआर की नेगेटिव रिपोर्ट तथा बिना पंजीकरण के अनुमति न दी जाए, तथा घर लौटने पर प्रवासियों को अनिवार्य रूप से होम क्वारेंटाईन किया जाए। मुख्यमंत्री ने सभी जिलाधिकारियों से कहा कि वर्तमान में कोविड संक्रमण की दूसरी लहर बडी तेजी से बढ रही हैं, जिसके लिए सभी जिलों में सभी आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित की जाय, जिसके लिए उन्होने सभी कोविड केयर सेंटरों में पर्याप्त मात्रा में आॅक्सीजन व्यवस्था के साथ आईसीयू बैंड बढाने के निर्देश दियें। तथा सभी कोविड केयर सेंटरों में पर्याप्त मात्रा में दवा की उपलब्धता बनी रहें तथा किसी भी दशा में कालाबाजारी न हो तथा कालाबाजारी करने वालों के विरूद्ध सख्ती से कारईवाई सुनिश्चित की जाय। उन्होने निर्देश दियें कि सभी कोविड केयर सेंटरों में पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करायी जाए। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि बाहरी क्षेत्रों से आने वाले व्यक्तियों का जनपदों की सीमाओं पर परीक्षण करते हुए सभी का डाटा तैयार किया जाय तथा अधिक से अधिक लोगो की सैपलिंग करायी जाय। उन्होंने कहा कि कोविड संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में आये व्यक्तियों की तत्काल कांटैक्ट ट्रेसिंग कराते हुए उन सभी की तत्काल सैंपलिंग सुनिश्चित की जाय। उन्होंने यह भी कहा कि 01 मई, 2021 से 18 वर्ष से 45 वर्ष तक आयु के सभी लोगो को कोविड टीका लगाया जाना है, इसके लिए सभी आवश्यक व्यवस्थायें समय से सुनिश्चित कराते हुए इसका व्यापक प्रचार-प्रसार कराते हुए अधिक से अधिक लोगों टीकाकरण के लिए प्रेरित किया जाय, इसमें सभी जनप्रतिनिधियों का भी सहयोग लिया जाय। उन्होंने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दियें कि कोविड संक्रमण के नियंत्रण एवं रोकथाम के लिए सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों का अपने-अपने जनपदों कडाई से अनुपालन सुनिश्चित कराया जाय, जिसमें सभी लोगो को माॅस्क का प्रयोग करने, दो गज की दूरी बनायें रखने आदि नियमों कडाई से पालन कराया जाय। इसके साथ ही उन्होंने शहरी क्षेत्रों के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी सेनेटाईजेशन का कार्य करने को कहा। जनपद बागेश्वर की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी विनीत कुमार ने मा0 मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि कोविड संक्रमण के रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए जनपद में बाहरी राज्यों एवं प्रदेश के अन्य जनपदो से आने वाले व्यक्तियों का पूर्ण डाटा तैयार करते हुए उनकी सैपलिंग करायी जाने हेतु दो स्टेजिंग एरिया संचालित कियें गये हैं। इसके साथ ही बीआरटी एवं सीआरटी तथा ग्राम स्तर पर निगरानी समिति द्वारा भी आने वाले व्यक्तियांे की निगरानी की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि डिग्री काॅलेज में कोेविड केयर सेंटर बनाया गया हैं, जिसमें 50 बैड पूर्व में ही तैयार किये गये है जिसमें संक्रमित व्यक्तियों का उपचार किया जा रहा है इसके साथ ही पचास और अतिरिक्त बैंड की व्यवस्था की जा रही है, तथा गरूड बैजनाथ में पर्यटन आवास गृह को कोविड केयर सेंटर बनाया गया है, जिसमें 22 बैंड की व्यवस्था की जा रही है। इसके साथ ही अन्य विकास खंडों में भी कोविड केयर सेंटर बनायंे जाने की कार्यवाही की जा रही है। वीसी में पुलिस अधीक्षक अमित श्रीवास्तव, अपर जिलाधिकारी हेमन्त कुमार वर्मा, प्रभारी मुख्य विकास अधिकाी केएन0तिवारी, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 बीडी जोशी, परियोजना निदेशक शिल्पी पंत, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डाॅ0 एस0पी0त्रिपाठी, मुख्य कृषि अधिकारी वीपी मौर्या, अधि0अधि नगर पालिका राजदेव जायसी, जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी शिखा सुयाल आदि उपस्थित रहें।

Ad
Ad
यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी…गौला की जद में आए बिजली विभाग के 2 टावर, नए टावरों की स्थापना के समय कल सेे कुछ देर बंद रहेंगें यह मार्ग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here