बद्दी ब्रेकिंग : दीपक स्पिनिंग मिल ने लगाया भंडारा, पुलिस ने 188 आईपीसी धारा में किया मामला दर्ज, लोग बोले —अधूरी कार्रवाई, डीएसपी बोले— जांच के बाद दूसरी धाराएं भी जुड़ सकती हैं

0
Ad

नालागढ़। प्रदेश के सबसे बड़े औद्योगिक क्षेत्र बद्दी—बरोटीवाला—नालागढ़ में कोविड-19 को लेकर जिला प्रशासन द्वारा क्षेत्र के मंदिरों और अन्य जगहों पर भंडारों के आयोजन पर रोक तो पहले ही लगा दी गई थी, लेकिन इसके बावजूद भी क्षेत्र में कई जगह भंडारे लगाने की घटनाएं बीते दिनों से लगातार सामने आ रही है। जिस पर पुलिस प्रशासन द्वारा भिन्न-भिन्न धाराओं के तहत कार्यवाही भी की गई है लेकिन एक मामला बद्दी की दीपक स्पिनिंग मिल में सामने आया जहां पर कंपनी प्रबंधन द्वारा भंडारा लगाया गया था और भंडारे में दर्जनों लोगों को बिठा कर खाना परोसा भी जा रहा था, हालांकि घटना की सूचना मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंचकर भंडारे को रुकवा दिया गया और पुलिस ने 188 आईपीसी धारा के तहत मामला भी दर्ज कर लिया। पुलिस इसमें जांच की बात कह रही है लेकिन फैक्ट्री प्रबंधन पर हुई इस कार्रवाई को लेकर क्षेत्र की सामाजिक संस्थाओं में खासा रोष देखा जा रहा है समाजिक संस्थाओं के पदाधिकारियों से जब हमने इस बारे में बात की तो उनका कहना है कि जब किसी आम आदमी पर कार्रवाई की बात आती है तो उसके ऊपर कई कई आईपीसी की धाराएं लगाकर मामले दर्ज कर लिए जाते हैं, लेकिन जब किसी बड़े आदमी यानी फैक्ट्रियों के मालिक पर कार्रवाई की बात आती है तो पुलिस के हाथ उन पर कार्रवाई को लेकर क्यों कांपने लग जाते हैं।

Ad

पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए सामाजिक संस्थाओं के पदाधिकारियों का कहना है कि दीपक स्विमिंग मिल में भी भंडारे का आयोजन किया गया था और भंडारा लोगों को बिठा कर खिलाया भी जा रहा था जिसके तहत सोशल डिस्टेंसिंग और धारा 144 का उल्लंघन 188 आईपीसी के तहत कोविड-19 के नियमों की पालना नहीं हो रही थी। जिसके चलते पुलिस ने धारा 188 लगाकर अधूरी कार्रवाई के नाम पर दिखावा किया गया है, ऐसा सामाजिक संस्थाओं के पदाधिकारियों का आरोप है समाजिक संस्थाओं के पदाधिकारियों ने कहा है कि आम आदमी के ऊपर तो उसी दिन भिन्न-भिन्न धाराएं लगाकर मामले दर्ज हो जाते हैं लेकिन जब फैक्ट्रियों के मालिक की बात आती है तो वहां पर पुलिस अदूरी कार्रवाई करके दिखावे क्यों कर रही है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड… उत्तराखंड में कोरोना के 20 नए केस, नैनीताल टाॅप पर

उन्होंने पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए कहा है कि अगर कोविड-19 नियम सभी के लिए बराबर है और जो भी उनकी अवहेलना करता है तो सभी पर बराबर कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने डीजीपी व हिमाचल प्रदेश सीएम जयराम ठाकुर समेत सरकार से नियमों के उल्लंघन को लेकर बराबर कार्रवाई करने की मांग की है। अब देखना यही होगा कि लोगों की पुलिस पर जताई गई इस नाराजगी को लेकर क्या कंपनी मालिक पर उचित कार्यवाही होती है या नहीं!

यह भी पढ़ें 👉  हिमाचल…शिक्षक ने 5वीं कक्षा की छात्राओं से कर डाली ऐसी गंदी हरकत,अब भागा-भागा फिर रहा

क्या बोले डीएसपी बद्दी नवदीप सिंह

इस पूरे मामले को लेकर जब हमने डीएसपी बद्दी नवदीप सिंह से बात की तो उन्होंने कहा कि पुलिस को दीपक स्पिनिंग मिल में भंडारा लगाने की सूचना मिली तो पुलिस ने मौके पर पहुंचकर भंडारे को रुकवा दिया है और धारा 188 आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर लिया है। उन्होंने कहा कि पुलिस मामले की जांच कर रही है, उन्होंने कहा कि पुलिस की जांच के बाद रिपोर्ट के अनुसार आईपीसी की अन्य धाराएं लगाई जा सकती है।

Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here