उत्तराखंड को कर्ज से उबारने को धामी का एक्शन

0
Ad

देहरादून। उत्तराखंड को कर्ज से उभारने को सीएम पुष्कर सिंह धामी का एक्शन प्लान बना है। धामी ने साफतौर से कहा कि फिजूलखर्ची पर रोक लगाने की जरूरत है। उन्होंने देहरादून में होने वाले सरकारी कार्यक्रमों का आयोजन प्राइवेट होटल और निजी स्थानों पर करवाने की रेाक लगा दी।

हल्द्वानी…साहू ने किया दमुवाढूंगा में चल रही क्रिकेट प्रतियोगिता के पांचवें दिन के मैच का शुभारंभ

सीएम ने मुख्य सचिव एसएस संधू को निर्देश दिए हैं। सीएम ने कहा कि इस प्रकार के सभी कार्यक्रम सीएम कैंप आफिस के मुख्य सेवक सदन में आयोजित किए जाएं। इसीप्रकार की व्यवस्था जिला स्तर पर भी लागू करने को कहा गया है। सीएम के इस फैसले को आर्थिक अनुशासन की ओर बढ़ते कदम की तरह देखा जा रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी…सड़क पर खड़ी बाइक उड़ा ले गया चोर

उत्तराखंड…बाप रे : सुप्रीम कोर्ट के न्यायमूर्ति की फोटो मोबाइल डीपी में लगाकर मंत्रियों व अधिकारियों से बात कर रहा शख्स, केस दर्ज

दरअसल, इस महीने से राज्य को जीएसटी के रूप में मुख्यमंत्री ने बताया कि सरकारी खर्चे को कम करने की दिशा में कदम उठाते हुए मैंने राजधानी में होटल या अन्य निजी स्थानों पर आयोजित होने वाले सरकारी कार्यक्रमों को मुख्यसेवक सदन में आयोजित किए जाने हेतु मुख्य सचिव को निर्देशित किया है साथ ही सभी जनपदों में भी यही कार्यप्रणाली लागू करने के लिए कहा है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी/लालकुआं…आपदा में अवसर: स्वतंत्रता दिवस पर ठेके बंद थे तो ये निकले मौका भुनाने, अवैध शराब बेचते दो गिरफ्तार

ब्रेकिंग न्यूज…उत्तराखंड पहुंचा अफ्रीकन स्वाइन फ्लू इस नगर पर लागू हुए सख्त प्रतिबंध

75 हजार करोड़ रुपये के कर्ज में डूबा है उत्तराखंड
उत्तराखंड इस वक्त बड़े कर्ज के बोझ के तल दबा हुआ है। रिजर्व बैंक की एक रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2021 तक राज्य पर 75 हजार करोड़ रुपये का कर्ज हो चुका था। इस हिसाब से राज्य का प्रत्येक व्यक्ति पर 65 हजार रुपये का कर्जदार है। राजस्व के ठोस स्रोत न होने की वजह से कर्ज की राशि लगातार बढ़ती जा रही है।

यह भी पढ़ें 👉  रुद्रपुर… दो दिन से लापता युवक का मिला शव

उत्तराखंड…लो कल्लो बात : यूपी से गांजा बेचने आईं दो सगी बहनों सहित तीन लोग गिरफ्तार, 13 किलो गांजा बरामद

सरकारी खर्चे को कम करने की दिशा में यह कदम उठाया गया है। मैंने राजधानी में होटल या अन्य निजी स्थानों पर आयोजित होने वाले सरकारी कार्यक्रमों को मुख्यसेवक सदन में आयोजित किए जाने के लिए मुख्य सचिव को निर्देशित कर दिया है। किया है। साथ ही सभी जनपदों में भी यही कार्यप्रणाली लागू करने के लिए कहा है।

उत्तराखंड…धामी की हामी के बाद नौकरशाही में बड़ा फेरबदल,50 आईएएस व पीसीएस के तबादले, दो डीएम भी बदले

Ad
Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here