बड़ी ख़बर : जिलों में कर्फ़्यू लगाने की कमान डीएम के हाथों आई, अपने विवेक अनुसार कठोर नियमों को अमल में लाने का अधिकार

0
Ad

देहरादून। कोरोना के बढ़े केस और मौतों से बेचैन तीरथ सरकार ने आज सभी डीएम को अपने विवेक के मुताबिक जब और जहां चाहे कर्फ़्यू लगाने और कठोर नियमों को अमल में लाने का अधिकार दिया है। साथ ही शादी-धार्मिक-सामाजिक समारोहों में अब मेहमानों की कुल उपस्थिति 50 तय कर दी है।

Ad

आपदा सचिव एसए मुरुगेसन ने ये आदेश जारी करने के साथ ही ये भी साफ किया है कि अपना RT-PCR टेस्ट कराने वाले रिपोर्ट आने तक खुद को Isolate करेंगे। डीएम को ये भी अधिकार सरकार ने दिए हैं कि वे चाहे तो हालात को काबू करने के लिए जैसा और जितना कठोर नियम-कदम लागू करना चाहते हैं, कर सकते हैं। उनको इसकी छूट दी गई है।

यह भी पढ़ें 👉  मोटाहल्दू… अभी-अभी : पाडलीपुर में घर में घुसी अज्ञात युवती, अपने घर में बच्चे के जन्म दिन के निमंत्रण का बहाना बनाते हुए आलमारी खंगाली, कमरे में मौजूद बच्चे को गोद में उठाया और…

अभी तक शादी और अन्य समारोहों में 100 तक की उपस्थिति को मंजूरी दी गई थी। सरकार ने अलबत्ता, ये बंदिश लगाई है कि कर्फ़्यू लागू करते समय औद्योगिक कार्यों-निर्माण कार्यों-जरूरी वस्तुओं को कर्फ़्यू में छूट दी जाएगी। राज्य में कोरोना ने जिस तरह हाहाकार मचा डाला है, उसके कारण सरकार ने ये फैसला किया। एक किस्म से सरकार ने कोरोना की क्रूरता थामने का जिम्मा एक कलेक्टरों को सौंप दिया है। उनको अगर Weekend के बजाए हफ्ते भर का कर्फ़्यू लगाना होगा तो इसके लिए अब शासन का मुंह ताकना नहीं पड़ेगा। वे खुद ये फैसला कर सकेंगे।

Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here