हरियाणा… झड़प : पुलिस से भिड़े किसान, लाठीचार्ज, एक किसान की मौत, कई घायल

0
Ad

हिसार (हरियाणा)। हरियाणा के हिसार जिले के खेदड़ में ग्रामीणों और पुलिस के बीच झड़प में एक किसान की मौत की खबर सामने आई है। पुलिस समेत कई प्रदर्शनकारियों के घायल होने की भी सूचना है। मृतक किसान की पहचान दिदारा गांव खेदड़ निवासी 56 वर्षीय धर्मपाल के रूप में हुई है। प्रशासन ने अभी मौत की पुष्टि नहीं की है।
पुलिस ने वाटर कैनन और आंसू गैस के गोलों का इस्तेमाल कर भीड़ को तितर-बितर किया। झड़प में प्रदर्शनकारियों और पुलिस दोनों को चोटें आई हैं। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
बताया जा रहा है कि प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच जमकर झड़प हुई थी। इस दौरान पुलिस ने लाठीचार्ज किया। बता दें कि 86 दिन से खेदड़ पावर प्लांट के सामने ग्रामीणों का धरना चल रहा था। शुक्रवार को ग्रामीण रेलवे ट्रेक को जाम करने जा रहे थे। पुलिस ने बैरिकेड लगाकर ग्रामीणों को रोकने का प्रयास किया। इसी दौरान उनके बीच झड़प हो गई।

यह भी पढ़ें 👉  नानकमत्ता… वाहन चोर गिरोह के 2 सदस्य गिरफ्तार, 2 फरार, 3 बाइकें बरामद

आंदोलन के 42वें दिन भी हुई थी झड़प
गौशाला संघर्ष समिति 86 दिन से धरनारत है। आंदोलन के 42वें दिन भी झड़प हुई थी। इस दिन भी पुलिस ने आंदोलनकारियों पर लाठियां फटकारी और आंसू गैस के गोले छोड़े थे। पुलिस ने नाराज लोगों पर पानी की बौछारें भी की थी। पुलिस की धक्कामुक्की के बीच छह लोग घायल हो गए थे। एक महिला समेत दो लोगों को गंभीर चोट आई थी। यह झड़प उस समय हुई थी जब ग्रामीण खेदड़ स्थित राजीव गांधी थर्मल पावर प्लांट पर ताला जड़ने जा रहे थे।

यह भी पढ़ें 👉  लालकुआं…हेयर ड्रेसर ने किया मकान मालिक की बेटी का अपहरण, पुलिस जुटी तलाश में

यह है पूरा विवाद
गौशाला संघर्ष समिति के सदस्य राख के उठान का कार्य थर्मल प्लांट के प्रबंधन से ग्रामीणों को देने की मांग को लेकर आंदोलनरत हैं। ग्रामीणों का कहना है कि इस कार्य से गौशाला का खर्चा चलता है। गौवंश का भरण-पोषण भी होता है। प्लांट प्रबंधन ने राख उठान का कार्य किसी अन्य को सौंपकर गौशाला की व्यवस्थाओं पर कुठाराघात किया है। इस मामले में समिति के मांगों के पूरा नहीं होने तक धरना-प्रदर्शन जारी रखने का एलान किया गया था।

इस तरह रहा घटनाक्रम:-
खेदड़ थर्मल की राख पर विवाद।
थर्मल का रेलवे ट्रेक जाम करने जा रहे ग्रामीण पुलिस से भिड़े।
बैरिकेड्स तोड़ आगे बढ़ने पर हुआ था विवाद।
प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच हुई झड़प, पुलिस ने किया लाठीचार्ज।
पुलिस ने वाटर कैनन और आंसू गैस के गोले भी दागे।
झड़प में कई प्रदर्शनकारियों और पुलिस को आईं चोटें।
डीसी डॉ. प्रियंका सोनी और एसपी लोकेंद्र सिंह मौके पर पहुंचे।
घायलों को अस्पताल में कराया गया भर्ती।
86 दिन से खेदड़ पावर प्लांट के सामने चल रहा था ग्रामीणों का धरना।
किसानों की महापंचायत का भी आज आयोजन किया गया।
किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी समेत कई किसान नेता भी पहुंचे थे।

Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here