पिथौरागढ़… नन्ही परी सीमान्त प्रौद्योगिकी संस्थान के पूर्व निदेशक के खिलाफ सवा 15 लाख की वित्तीय अनियमितता का मुकदमा दर्ज

0
Ad

पिथौरागढ़। पिथौरागढ़ स्थित नन्ही परी सीमान्त प्रौद्योगिकी संस्थान के तत्तकालीन निदेशक डाॅ. अम्बरीष शरण विद्यार्थी के खिलाफ उत्तराखंड टैक्निकल यूनिर्वसिटी के कुलसचिव डाॅ. हेमन्त कुमार जोशी ने कोतवाली में भ्रष्टाचार, उत्पीड़न, शोषण, अनुशासनहीनता तथा वित्तीय अनियमितताओं के खिलाफ तहरीर सौंपी है।

Ad

पुलिस ने मुकदमा दर्ज करके मामले की छानबीन शुरू कर दी है। प्रशासनिक जांच में डाॅ. विद्यार्थी पर 15,35,111 की वित्तीय अनियमित्ता की बात सामने आई है।

यह भी पढ़ें 👉  सुप्रभात…आज का पंचांग, आज का इतिहास, मां स्कंदमाता की कथा और आचार्य पंकल पैन्यूली से जानें अपना आज का राशिफल


नन्ही परी सीमान्त अभियान्त्रिकी संस्थान का नाम पूर्व में सीमान्त प्रौद्यागिकी संस्थान उत्तराखंड था। यह संस्थान उत्तराखंड सरकार द्वारा 2011 में स्थापित अखिल भारतीय तकनीकि शिक्षा परिषद नई दिल्ली द्वारा अनुमोदित संघटक संस्थान उत्तराखंड तकनीकि विश्वविद्यालय देहरादून से संबद्ध था।

यह भी पढ़ें 👉  मोटाहल्दू…पाडलीपुर से पहले खड़कपुर गांव में भी एक घर में घुसी थी अंजान युवती, बच्चे पर थी नजर, सीसीटीवी कैमरे में हुई कैद

संस्थान के तत्तकालीन निदेशक डाॅरु अम्बरीष शरण विद्यार्थी के खिलाफ संस्थान में किये जा रहे भ्रष्टाचार, उत्पीड़न, शोषण, अनुशासनहीनता तथा वित्तीय एवं प्रशासनिक अनियमितताओं के संबंध में विभिन्न माध्यमों से मिल रही शिकायतों का संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी पिथौरागढ़ ने जांच कराने के बाद शासन को अपनी आख्या भेजी।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी…घर पर ताला लगाकर मकान मालिक बाजार क्या गया,चोरों ने ताला तोड़कर मोबाइल और कैमरा कर लिया पार

इसमें डाॅ. विद्यार्थी पर 15,35,111 लाख रुपये की वित्तीय अनियमितता सामने आई। कुलसचिव के अनुसार इस मामले की पुलिस जांच किया जाना आवश्यक है। कुलसचिव ने पुलिस को जिलाधिकारी की जांच रिपोर्ट भी प्रेषित की है। पुलिस ने मामला दर्ज करके जांच की कार्रवाई शुरू कर दी है।

Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here