More
    spot_img
    Homeउत्तराखंडसुप्रभात, जाने आज का पंचांग, मां सिद्धीदात्री के पूजन के साथ महानवमी...

    सुप्रभात, जाने आज का पंचांग, मां सिद्धीदात्री के पूजन के साथ महानवमी इन भजनों के साथ मनाएं, आज का इतिहास और बहुत कुछ

    spot_img
    spot_img

    ग्रेगरी कैलंडर के अनुसार आज वर्ष का 287वॉ दिन है। साल के अभी और 78 दिन शेष हैं।
    आज महानवीम है। आज के दिन नौ दुर्गा के नवमें रूप यानी मां सिद्धी दात्री का पूजन किया जाता है।
    सूर्योदयः- प्रातः 06:15:00, सूर्यास्तः- सायं 05:45:00
    आज का पंचांग
    14 अक्टूबर 2021, गुरूवार, विक्रम संवतः 2078, शक संवतः- 1943, सूर्य दक्षिणायन, शरद ऋतु, भाद्र माह, शुक्ल पक्ष, तिथिः- नवमी तिथि 18:53:00 तक समाप्ति तदोपरान्त दशमी तिथि, तिथि स्वामीः- नवमी तिथि की स्वामिनी माँ दुर्गा जी हैं। तथा दशमी तिथि के स्वामी यमराज जी है। नक्षत्रः- उत्तरा आषाढ़ा नक्षत्र 09:36:00 तक समाप्ति तदोपरान्त श्रवण नक्षत्र, उत्तरा आषाढ़ा नक्षत्र के स्वामी सूर्य देव हैं तथा श्रवण नक्षत्र के स्वामी चन्द्र देव है।, धृति 25:44:35 तदोपरान्त शूल, गुलिक कालः- शुभ गुलिक काल 09:13:00 से 10:40:00 तक, गुरूवार को दक्षिण दिशा में यात्रा नहीं करनी चाहिए। यदि ज्यादा आवश्यक हो तो घर से सरसों के दाने या जीरा खाकर निकलें।
    राहुकालः- आज का राहु काल 01:33:00 से 03:00:00 तक, इस तिथि में लौंकी नही खाना चाहिए यह तिथि रिक्ता तिथि है और इस तिथि में मांगलिक कार्य करना वर्जित है ।

    माता की भेंटे स्व. नरेंद्र चंचल के स्वरों में

    अनुराधा पौडवाल के साथ सुनें मां भगवती की अमृतवाणी

    नवरात्रि का नौवां दिन: मां सिद्धी दात्री की पूजा, महानवमी एवं हवन। कन्या पूजन।
    कन्या पूजन: नवरात्रि में व्रत के साथ कन्या पूजन का बहुत महत्व होता है। जो लोग नवरात्रि के 9 दिनों का व्रत रहते हैं या फिर पहले दिन और दुर्गा अष्टमी का व्रत रखते हैं, वे लोग कन्या पूजन करते हैं। कई स्थानों पर कन्या पूजन दुर्गा अष्टमी के दिन होता है और कई स्थानों पर यह महानवमी के दिन होता है। 01 से लेकर 09 वर्ष की कन्याओं को मां दुर्गा का स्वरुप माना जाता है, इसलिए उनकी पूजा की जाती है।

    आज का इतिहास
    हेस्टिंग्स के निकट विलियम के नेतृत्व में नॉर्मन सेना ने 1066 में इंग्लैंड को हराया और वहाँ के राजा हेरॉल्ड द्वितीय की हत्या कर दी।
    स्कॉटलैंड की सेना ने 1322 में अंग्रेजी राजा एडवर्ड द्वितीय को हराया और इस प्रकार स्कॉटलैंड को अंग्रेज़ी शासन से मुक्ति दिलाई।
    शिमला में पंजाब विश्वविद्यालय की स्थापना 1882 को की गई। यह ब्रिटिश उपनिवेशवादी सरकार द्वारा कलकत्ता, मुंबई और मद्रास के बाद स्थापित किया गया भारत का चौथा विश्वविद्यालय था।
    वर्ष का चौथा उष्णकटिबंधीय तूफान 1923 को पनामा के ठीक उत्तर में आया।
    जर्मनी ने मित्र राष्ट्रों के समूह से बाहर आने की घोषणा 1933 को की।
    जापान ने फिलीपींस की स्वतंत्रता की घोषणा 1943 में की।
    हालैंड और इंडोनेशिया के बीच संघर्ष विराम समझौते पर 1946 को हस्ताक्षर किए गए।
    इजरायल और मिस्र के बीच 1948 को जबरदस्त लड़ाई शुरु।
    भारत में 1953 को संपदा शुल्क अधिनियम प्रभाव में आया।
    डॉ. भीमराव आम्बेडकर ने 1956 में अपने 3,85,000 अनुयायियों के साथ कोचांदा में बौद्ध धर्म स्वीकार किया और अपने समर्थकों को 22 बौद्ध प्रतिज्ञाओं का अनुसरण करने की सलाह दी।
    होस्नी मुबारक मिस्र के चौथे राष्ट्रपति 1981 में बने।
    जर्मनी के बॉन में परमाणु ऊर्जा के खिलाफ एक लाख लोगों ने प्रदर्शन 1979 में किया।
    ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय और प्रिंस फ़िलिप ने 1997 को अमृतसर के जलियांवाला बाग में शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की।
    परमाणु परीक्षण प्रतिबंध संधि (सी.टी.बी.टी.) अमेरिकी सीनेट में 1999 को नामंजूर।
    संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा 2000 को पाक समेत 22 देशों में अपने दूतावास बंद।
    कतर में मिलने के वायदे के साथ 2002 को 14वें एशियाई खेलों का बुसान में रंगारंग समापन।
    पाकिस्तान की नेशनल असेंबली ने 2004 में राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ़ को सेना प्रमुख बनाये रखने वाला विधेयक पारित किया।
    अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (आईएईए) ने चिकित्सा और कृषि क्षेत्रों में परमाणु प्रौद्योगिकी के प्रयोग के लिए नेपाल को 2007 में मंजूरी प्रदान की।
    भारतीय रिजर्व बैंक ने म्युचुअल फंड्स की ज़रूरतें पूरी करने के लिए अतिरिक्त 200 अरब रुपये जारी करने की घोषणा 2008 में की।
    राजधानी दिल्ली में चल रहे 19वें राष्ट्रमंडल खेलों का समापन 2010 में हुआ।
    नाइजीरिया की एक मस्जिद में 2012 को बंदूकधारियों ने 20 लोगों की हत्या की।
    14 अक्टूबर को जन्मे व्यक्ति

    दिल्ली (भारत) का मुग़ल बादशाह बहादुर शाह प्रथम का जन्म 1643 में हुआ।
    भारत के प्रसिद्ध क्रांतिकारी और ‘गदर पार्टी’ के संस्थापक लाला हरदयाल का जन्म 1884 में हुआ।
    जैरे के राष्ट्रपति मोबुतु सेस सीको का जन्म 1930 में हुआ।
    भारत के प्रमुख सितार वादकों में से एक निखिल रंजन बैनर्जी का जन्म 1931 में हुआ।
    परमवीर चक्र सम्मानित भारतीय सैनिक सेकेंड लेफ़्टिनेंट अरुण खेत्रपाल का जन्म 1950 में हुआ।
    भारत के स्कवेश खिलाड़ी रित्विक भट्टाचार्य का जन्म 1979 में हुआ।
    भारत के अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खिलाड़ी गौतम गंभीर का जन्म 1981 में हुआ।
    14 अक्टूबर को हुए निधन
    भारत की थम महिला शासिका रज़िया सुल्तान का निधन 1240 में हुआ।
    लोकमान्य बालगंगाधर तिलक के सहयोगी पत्रकार और मराठी साहित्यकार नरसिंह चिन्तामन केलकर का निधन 1947 में हुआ।
    राष्ट्रवादी ट्रेड यूनियन नेता एवं भारतीय मज़दूर संघ के संस्थापक दत्तोपन्त ठेंगडी का निधन 2004 में हुआ।
    भारत के पूर्व केंद्रीय मंत्री, वकील एवं सामाजिक कार्यकर्ता मोहन धारिया का निधन 2013 में हुआ।

    spot_img
    India : Covid update
    34,189,774
    Total confirmed cases
    Updated on October 25, 2021 6:24 am
    spot_img
    spot_img
    - Advertisment -spot_imgspot_img
    spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
    spot_img
    RELATED ARTICLES
    spot_img

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    spot_img

    UPDATES

    UTTARAKHAND

    spot_img

    Recent Comments :