हल्द्वानी ब्रेकिंग : नैनीताल में न हो आक्सीजन सिलेंडरों की कमी- भगत, उधम सिंह नगर से 500 सिलेंडरों का इंतजाम

0
Ad

हल्द्वानी। जनपद में कोविड की रोकथाम के प्रबन्धन एवं अनुश्रवण के लिए मुख्यमंत्री द्वारा शहरी विकास एवं संसदीय कार्य मंत्री बंशीधर भगत को जनपद नैनीताल की कमान सौपी है। जिसके क्रम में मंत्री भगत ने जिलाधिकारी शिविर कार्यालय में बैठक कर कोरोना संक्रमण को रोकने तथा संक्रमित लोगो के बेहतर ईलाज के सम्बन्ध मे समीक्षा की।

Ad

समीक्षा में भगत ने पाया की जिले में आक्सीजन की कमी है तथा रिफलिंग के लिए सिलेंडरो की भी कमी है। मंत्री द्वारा सचिव सचिन कुर्बे से दूरभाष पर वार्ता कर निर्देश दिये कि नैनीताल जिले में लगभग 2000 खाली सिलेंडर उपलब्ध कराये तांकि रिफलिंग कर सिलेंडरों की आपूर्ति आवश्यकतानुसार जिला प्रशासन द्वारा की जा सके। भगत ने कहा कि जनपदो मे आॅक्सीजन सिलेंडरों की संख्या में बढोत्तरी की जायेगी।

भगत ने कहा कि जनपद उधमसिंहनगर से भी लगभग 500 सिलेंडरों की व्यवस्था की जा रही है। उन्होने बताया कि जनपद के सुशीला तिवारी अस्पताल में 415 बेड की क्षमता के अनुसार 375 बेड लगे है जबकि अधिग्रहित अस्पतालों में 457 प्राइवेट अस्पतालों के फुल है। उन्होने कहा कि शवों के अंतिम संस्कार के लिए जिले भर के लिए सभी श्मशान घाटों में पर्याप्त मात्रा में हर समय लकड़ी उपलब्ध रहनी चाहिए। भगत ने दूरभाष पर प्रबन्ध निदेशक वन विकास निगम को निर्देश दिये कि वह सभी घाटों पर अन्तिम संस्कार के लिए रियायती दरों पर लकड़ी उपलब्ध कराएं।

यह भी पढ़ें 👉  सितारगंज...सिडकुल एसोसिएशन ने किया रक्तदान शिविर का आयोजन

उन्होंने जिला पूर्ति अधिकारी मनोज बर्मन को निर्देश दिये की सरकारी सस्ते गले की दुकानों से वितरित होने वाली राशन के लिए दुकानों को खोलने का रोटर बनाये अथवा राशन के वितरण का कार्य सामाजिक दूरी को बनाये रखने के उद्देश्य से खुले मैदान मे कराये। उन्होने कहा कि जनपद की सीमाओं पर बाहर से आने वालों की नियमित सख्त चैकिंग की जाये। बिना आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट के जिले में कतई प्रवेश न दिया जाए। जनपद में प्रवासी लोगों के लिए रजिस्ट्रेशन जरूरी हो। उन्हें सीधे उनके घर भेजकर होम आइसोलेशन में रखा जाए।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी… रेलवे ग्राफ डी परीक्षा में ब्ल्यूट्रूथ लेकर बैठा परीक्षार्थी पकड़ा, पुलिस को सौंपा

जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल ने बताया कि जनपद में 1200 मीट्रिक टन आक्सीजन गैस का उत्पादन हो रहा है। जबकि जिले में 20.5 मैटिक टन की आवश्यकता है। जनपद के उत्पादकों द्वारा मण्डल के अन्य जनपदों में भी गैस की आपूर्ति की जा रही है। उन्होने बताया कि 600 सिलेंडर की व्यवस्था उधमसिंह नगर जिले से की गई है। एसटीएच में 400 सिलेंडर का कोटा रिर्जव में रखा जाता है। इसके अलावा जिले के 19 अस्पतालों, 12 अधिग्रहित अस्पतालों में जहां कोविड के मरीज भर्ती है। 60 छोटे अस्पतालों को दैनिक प्रयोग तथा होम आईसोलेशन के मरीजो को आक्सीजन सिलेंडरों की आपूर्ति की जा रही है। उन्होने बताया कि रिफलिंग के लिए लगभग 1000 सिलेंडरो की आवश्यकता है। जिले भर के श्मशान घाटो में व्यवस्थाओं के लिए नोडल अधिकारी तैनात कर दिये गये।

यह भी पढ़ें 👉  सितारगंज…हनी ट्रेप में फंसाकर पीलीभीत के व्यक्ति से ठगे चालीस हजार व इनोवा, अब पुलिस के नाम पर मांग रहे ढाई लाख

धीराज सिंह गर्ब्याल ने बताया कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए प्रशासन स्वास्थ्य महकमा पूरी तत्परता से निरंतर कार्यरत है। उन्होने बताया कि कोविड के इलाज के लिए 9 प्राइवेट अस्पतालों को अधिगृहीत किया गया है जिसमे 370 बेड, 94 आईसीयू तथा 25 वंेटीलेटर उपलब्ध है इसके अलावा मिनी स्टेडियम में 150 बेडो की व्यवस्था कर दी गई है जिन्हे जल्द ही आॅक्सीजन लाईन से जोड दिया जायेगा। उन्होने बताया कि जनपद में 4784 लोगो को होम आईसोलेशन में रखा गया है। 79081 लोगो की काॅनटेक्ट टैसिंग की गई है। अब तक 25142 सैम्पैल लिये जा चुके है तथा 48 कन्टोमेंट जोन बनाये गये है जिसमें 634 लोगो के सैम्पल लिये गये जिसमें से 193 पाॅजीटीव आये गये पाॅजीटीव लोगो का इलाज किया जा रहा है। बैठक में मेयर डाॅ. जोगेन्द्र पाल सिंह रौतेला, उप मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ. तरूण कुमार टम्टा तथा डाॅ. रश्मि पंत भी मौजूद थे।

Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here