लोहाघाट ब्रेकिंग : लोहावती नदी के तट पर प्रशासन करा रहा था कोरोना पाजीटिव मृतक का अंतिम संस्कार, ग्रामीणों ने कर दिया पंगा, पढ़ें पूरी खबर

0
Ad

मनोज राय
लोहाघाट।
यहां लोहाघाट नगर से लगी ग्राम सभा राय नगर चौड़ी के लोगों का गुस्सा तब भड़क गया जब कुछ पुलिस कर्मी, फायर सर्विस व नगर पंचायत कर्मी गाव के समीप कोरोना का शिकार हुए व्यक्ति का शव लेकर पहुंचे। कर्मी यहां देवराडी बैंड के पास बायपास के समीप लोहावती नदी में शव जलाने की तैयारी कर रहे थे। ग्रामीणों का कहना था कि यहां गांव के लोगों अपने मवशियों को चराने, सुबह शाम घूमने व महिलाएं घास आदि काटने जाती हैं। जिससे गांव में संक्रमण फैलने की का खतरा पैदा हो जाएगा। ग्राम प्रधान जितेंद्र राय, बीडीसी मेंबर मनोज कापड़ी, बीडी राय, मनोज राय, प्रकाश राय, हरीश कापड़ी, चंचला देवी, हीरा देवी, भूना देवी, हेमा देवी, सुनीता देवी, बसंती देवी, दीपा देवी, शांति देवी, नरी देवी, राजेन्द्र राय, बसंत राय आदि का कहना था कि जहां गांव वालों की सूझ -बूझ, सावधानी, जागरूकता से अभी तक कोराना गांव से दूर है, वहीं प्रशासन की लापरवाही से कोराना जैसी महामारी से गांव को भी खतरा पैदा हो जायगा। ग्रामीणों के विरोध के बाद मौके पर दल बल के साथ पहुचे नायब तहसीलदार और एसओ मनीष खत्री ने ग्रामीणों से वार्ता की। इस बीच एसओ के रवैये को देख ग्रामीण भड़क गए। ग्रामीणों ने किसी भी हालत में गांव के समीप लोहावती नदी में शवदाह न करने देने पर डट गए। बाद में ग्रामीणों ने विधायक पूरन सिंह फर्त्याल से इसकी शिकायत की तो तब जाकर पुलिस ने शव का दाह अन्य जगह किया गया। ग्रामीणों ने प्रशासन को चेतावनी देते हुए सार्वजनिक जगहों पर कोरोना संक्रमित शवों को न जलाने की बात कही। ग्रामीणों ने निर्णय लिया कि इसकी शिकायत मुख्य मंत्री व स्वास्थ मंत्री से की जाएगी। इस घटना से ग्रामसभा डेसली, खुना बोहरा, बलाई आदि के ग्रामीणों में भी आक्रोश है।

Ad
Ad
यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी…मौसम की मार: वीडियो/ रानीबाग में तीन चिताओं पर मंडराया बहने का संकट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here