ब्रेकिंग न्यूज : यहां थानाध्यक्ष ही हो गए मॉब लीचिंग का शिकार, लोगों ने पीट-पीट कर मार डाला

0
Ad

पटना। बिहार के किशनगंज नगर के थानाध्यक्ष की बंगाल में भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी। घटना शनिवार सुबह करीब 3 बजे तब हुई, जब SHO बाइक चोरों को पकड़ने के लिए बिहार की सीमा से निकलकर बंगाल के इस्लामपुर इलाके में चले गए। यह इलाका किशनगंज टाउन से सिर्फ 12 किलोमीटर दूर है, इसलिए पुलिस टीम को अंधेरे में दूसरे राज्य की सीमा का अंदाजा नहीं लगा, लेकिन अपराधियों ने लोगों को भड़का दिया और भीड़ ने थानाध्यक्ष की हत्या कर दी। दैनिक भास्कर के अनुसार यह घटना आज सुबह लगभग तीन बजे की है।

Ad

प्रदेश की ताजा खबरों के लिए जुड़े व्हाट्स एप ग्रुप से 👉 Click Now 👈

खबर के मुताबिक अपराधियों ने यह अफवाह फैला दी कि बिहार की पुलिस बंगाल चुनाव में दखलंदाजी करने आई है। यह सुनकर लोग भड़क गए और किशनगंज पुलिस की टीम को घेर लिया। इस दौरान बाकी पुलिसकर्मी तो भागने में कामयाब रहे, लेकिन थानाध्यक्ष अश्विनी कुमार लोगों को समझाने के चक्कर में फंस गए। लोगों ने उनकी एक नहीं सुनी और पीट-पीटकर मार डाला। जिस जगह घटना हुई, वह बंगाल के गोलपोखर विधानसभा इलाके में आती है, यहां 22 अप्रैल को वोटिंग होगी।

यह भी पढ़ें 👉  पिथौरागढ़…कर्जदार ने रूपये देने के लिए बुलाया और कर दी मारपीट, अब कोतवाल बनकर कर रहा फोन, केस दर्ज

ADG मुख्यालय जितेंद्र कुमार ने कहा है कि लूट की सूचना के आधार पर अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए थाना प्रभारी अश्विनी कुमार छापेमारी के लिए निकले थे। इस दौरान पं. बंगाल के गोपांतापाड़ा गांव पहुंचे थे, जहां ग्रामीणों के साथ मिलकर अपराधियों ने हमला कर दिया। इसके बाद थाना प्रभारी अश्विनी कुमार ने अपनी टीम के सभी पुलिसकर्मियों को निकाला। खुद लोगों को समझाते रहें। इस दौरान वे पीछे रह गए। इसके बाद अज्ञात भीड़ की ओर से मारपीट की गई, जिसमें वे शहीद हो गए। उन्होंने कहा कि इस कांड में 3 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। इस केस के संबंध में बिहार के डीजीपी एस के सिंघल ने पं. बंगाल के डीजीपी से बातचीत की है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी…रात को ड्यूटी से लौट रहे युवक से दो लुटेरों ने मोबाइल छीना, केस दर्ज

उनसे तत्काल कार्रवाई की मांग की है। ADG ने कहा कि शहीद थाना प्रभारी की बहादुरी पर पुलिस विभाग को गर्व है। उनकी शहादत बेकार नहीं जाएगी। अपराधियों को दंड दिलाने में पं. बंगाल पुलिस की पूरी मदद करेंगे और केस को फॉलो करते रहेंगे। मॉब लिंचिंग की घटना के बाद पूर्णिया के आईजी सुरेश प्रसाद और किशनगंज के SP कुमार आशीष बंगाल के इस्लामपुर पहुंच गए और अश्विनी कुमार के शव को पोस्टमॉर्टम के बाद किशनगंज भेज दिया। पूर्णिया के IG सुरेश प्रसाद ने बताया कि गोपांतापाड़ा गांव में मॉब लिंचिंग की घटना हुई है। बंगाल पुलिस की मदद से छापेमारी की जा रही है। वहीं, SP कुमार आशीष ने कहा कि पश्चिम बंगाल के पांजीपाड़ा पुलिस ने फिरोज आलम नामक एक शख्स को हिरासत में लिया है। पुलिस पूछताछ कर रही है। इस मामले में मुख्य आरोपी सहित पुलिस ने तीन को गिरफ्तार किया है।

Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here