गढ़वाल…बारिश का कहर : पहाड़ों पर जन जीवन अस्त व्यस्त, दर्जनों सड़कें बंद, टिहरी में कार पर गिरे पत्थर, एक की मौत, तीन घायल

0
Ad

देहरादून। भले ही तराई के इलाकों में लोगों को झुलसाती गर्मी से दो चार होनापड़ रहा है लेकिन गढ़वाल के पहाड़ों पर मंगलवार की रात से जारी बरसात ने अब कहर बरपाना शुरू कर दिया है। कई जिलों में नदी नाले उफान पर आगए हैं। दर्जनों सड़कें मलबे से अट गई है। कई घरों पानी व मलबा घुसने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। फिलहाल केदारनाथ तो चल रहा है लेकिन बदरीनाथ हाइवे सिरोहबगड़ के पास मलबा आने से बंद हो गया है। पहले से ही बंद यमुनोत्री हाईवे को खोलने के प्रयास अभी जारी है। टिहरी में एक कार पर मलबा आने से एक व्यक्ति की मौत की खबर आ रही है। यह घटना टिहरी जनपद के जौनपुर ब्लॉक के अगलाड़-थत्यूड़ मोटर मार्ग की है। यहां करखेत के पास एक कार के ऊपर पत्थर गिरने से एक व्यक्ति की मौत हो गई। जबकि तीन लोग लोग घायल हो गए। गाड़ी में सवार सभी स्थानीय लोग थे। वहीं उत्तरकाशी नौगांव में मंगलवार रात को हुई तेज बारिश से सौली खड्ड और देवलसारी खड्ड में आए पानी और मलबे से भारी नुकसान हुआ है। सौली खड्ड के उफान में एक बाइक बह गई। जबकि एक पिकअप मलबे में दब गया। यहां नगर पंचायत के दो शौचालय भी बह गए। वहीं देवलसारी खड्ड के उफान में एक पिकअप, मिक्सचर मशीन और हैंडपंप मलबे में दब गया।
वहीं चमनी देवी और प्यारी देवी के घरों में पानी घुस गया। यमुनोत्री हाइवे के समीप जनक सिंह के आवासीय भवन के आगे का हिस्सा धंसने से यहां परिवार में खौफ है। डर के कारण किरायेदार और भवन स्वामी ने रात को ही मकान खाली कर दिया। राजस्व विभाग की टीम मौके पर पहुंची है।
उत्तरकाशी में मलबा आने से मोरी त्यणी, मोरी नैटवाड सांकरी,आराकोट चीवा मोटर मार्ग पर यातायात अवरुद्ध है। तहसीलदार चमन सिंह ने बताया कि इन मार्गों से मलबा हटाने का कार्य गतिमान है। श्रीनगर में बादलों की गड़गड़ाहट के साथ तेज बारिश का सिलसिला जारी है, जिससे बदरीनाथ हाईवे अलग-अलग जगहों पर अवरुद्ध है। श्रीनगर से सात किलोमीटर रुद्रप्रयाग की ओर चमधार में मलबा आने से हाईवे बंद हो गया।
उधर, जाख- डोबरा-चांटी मोटर मार्ग सिराई गांव के समीप बाधित हो गया है। मोरी-त्यूनी मार्ग पर मलबा और बोल्डर हटाने का काम जारी है, जिससे यातायात जल्द शुरू किया जा सका।
जनपद रुद्रप्रयाग के मयाली घनसाली मार्ग पर बुरांशकांठा पुल, भूस्खलन से क्षतिग्रस्त हो गया है। मार्ग पर अन्य स्थानों पर भी मलबा आने से मार्ग बुरांशकांठा के समीप पूर्णतया बाधित हो चुका है। तिलवाड़ा व मयाली से इस मार्ग पर जाने वाले वाहनों को सुरक्षित स्थानो पर रोका जा रहा है।
यमुनोत्री हाईवे के पास लगातार गिर रहे बोल्डर से लोग भयभीत हैं। इधर नगर पालिका क्षेत्र में नालियां बंद होने से सड़कों पर जलभराव हो गया है।

Ad
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड… अच्‍छी खबर: अब वोटर लिस्‍ट में नाम जोड़ने के लिए मिलेंगे साल में चार मौके

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here