सितारगंज…पति या दुश्मन: पति को गुलछरों पर टोकना महिला को पड़ा भारी, ससुरलियों ने की गला दबाकर मारने की कोशिश, केस दर्ज

0
Ad

सितारगंज। यहां के वार्ड नंबर 4 में रहने वाली एक महिला को उसके ससुरालियों ने न सिर्फ मारापाटी बल्कि उसके गले में फांसी का फंदा लगाकर उसे जान से मारने का प्रयास भी किया। महिला को उसका भाई गंभीर अवस्था में पहले सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और फिर हालत गंभीर होने पर उसे एसटीएच हल्द्वानी ले गया। जहां उसका उपचार जारी है। बताया जा रहा है कि महिला के गले में दबाए जाने के निशान दो दिन बाद भी दिखाई पड़ रहे हैं।


मामले की तहरीर पीड़िता के भाई तफसील अहमद ने बुधवार को दर्ज कराई। पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है। तहरीर के मुताबिक तफसील अहमद किच्छा के वार्ड नंबर 20 स्थित इंद्रानगर कालोनी का रहने वाला है। उसकी बहन तबस्सुम का विवाह 29 अगस्त 2015 को मुस्लिम रीति के साथ सितारगंज के वार्ड नंबर 4 स्थित इस्लाम नगर निवासी जावेद के साथ हुआ था। आरोप है कि निकाह के बाद से ही जावेद किसी अन्य महिला के साथ टेलीफोन पर बात किया करता था।
जब तबस्सुम को यह बात पता चली तो उसने जावेद को रोकना चाहा। इससे घर में तनाव हुआ और पंचायतें भी बुलाई गईं। लेकिन जावेद के व्यवहार में कोई परिवर्तन नहीं आया।

यह भी पढ़ें 👉  सितारगंज...फुकरे: युवक पर चढ़ा एकतरफा इश्क का बुखार, हाथ पर ब्लेड से लिख लिया युवती का नाम, अब जाएगा जेल

सितारगंज…सेवा नियमावली के विरोध में उतरे सहकारी कर्मचारी, भेजा मुख्यमंत्री को ज्ञापन


तहरीर के मुताबिक पांच जुलाई को जावेद ने तबस्सुम के साथ मारपीट की। उसके चीखने चिल्लाने पर जावेद के पिता अब्दुल लतीफ, मां जुबैदा व व उनकी बेटी माजदा उसके कमरे में आ गए। सास जुबैदा ने तबस्सुम को को जमीन पर गिरा दिया उसके साथ मारपीट की। जावेद व उसके पिता अब्दुल तलतीफ ने उसके साथ गालीगलौच की व लात घूसों से पिटाई की।

हल्द्वानी…दहेज में कार नहीं दी तो ससुराली करते घरेलू हिंसा, ननद का बेटा रखता है गंदी नजर और पति ने बहशीपन की हदें कर दी पार, केस दर्ज

यह भी पढ़ें 👉  रूद्रपुर…तबादले: एसएसपी ने चार महिला सब इंस्पेक्टरों को किया इधर से उधर

तबस्सुम की ननद माजदा ने उसके बाल खीचे। सास व ननद ने उसके गले में दुपटटे से फन्दे लगाया और विरोधी दिशाओं में खींचना शुरू कर दिया। इस बीच चीखपुकार सुनकर आस पडोस के लोग मौ।के पर पहुंचे और बामुश्किल तबस्सुम को बचाया। सभी आरोपी लोगों के आने पर उसे जान से मारने की धमकी देकर उसके कमरे से निकल गए। इसके बाद तबस्सुम ने डायल 112 पर काल की लेकिन वहां किसी ने फोान नहीं उठाया। तब उसने अपने भाई तफसील को फोन करके अपने घर बुलाया।

काम की बात…आज ऐसे बोएं हरेला, इन बातों का रखें ध्यान, 16 को कटेगा हरेला

तफसील रात में ही सितारगंज पहुंचा और तबस्सुम को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सितारगंज ले गया। जहाँ प्राथमिक उपचार के बाद डाक्टरों ने उसकी गम्भीरावस्था को देखते हुए एसटीएच हल्द्वानी रेफर कर दिया। फिलहाल उसके इलाज डॉ. सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी में चल रहा है। उसके गले में फंदे के निशान आज भी साफ दिख रहे हैं। उसे सांस लेने में भी दिक्कत हो रही हैं। उसके सिर व शरीर पर गम्भीर चोटें हैं। तफसील का कहना है कि उसकी बहन को सके ही ससुरालियों की ओर से जान ओ माल का खतरा बना हुआ है।

यह भी पढ़ें 👉  रक्षाबंधन कब … बड़ा सवाल :आज या कल - कब मनाएं रक्षा बंधन, जानिए आचार्य पंकज पैन्यूली से

खटीमा…ब्रेकिंग : उधर— यूपी के पौंटा डैम में मिला बालक वीर का शव, परिजनों ने की शिनाख्त, इधर— अज्ञात लोगों पर मगरमच्छ की हत्या का केस दर्ज  


पुलिस ने तबस्सुम के पति, ससुर, सास व ननद के खिलाफ कई धाराओं मेंकेस दर्ज कर लिया है। मामले की छानबीन जारी है।

सितारगंज… अनिलदीप की उन्नतिशील खेती की तारीफ सुनकर खिंचे चले आये डीएम, लिया काले चावल की खीर और पीले तरबूज का स्वाद

Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here