नैनीताल ब्रेकिंग : रमजान के पहले ही दिन नमाज पढ़ने के बाद भिड़े युवकों के दो गुट, एक की हत्या, पांच घायल

0
Ad

नैनीताल। तल्लीताल क्षेत्र में रमजान के पहले दिन नमाज पढ़ने के बाद मंस्जिद से निकले दो गुट ऐसे भिड़े की एक युवक की जान चली गई। जबकि कम से कम पांच लोग घायल हो गए। गंभीर घायल एक युवक को इलाज के लिए हल्द्वानी रेफर किया गया। दो गुटों के खूनी संघर्ष के बाद क्षेत्र में बने तनाव को देखते हुए पुलिस फोर्स तैनात कर दी है। विवाद के कारणों का पता लगाया जा रहा है।

Ad

सत्यमेव जयते.कॉम की खबरें अपने मोबाइल पर पाने के लिए नीचे दिए लिंक को क्लिक करके हमारे व्हाट्सअप ग्रुप को ज्वाईन करें

https://chat.whatsapp.com/FRtyqY0WRlHKZxyPPM4AkI


मीडिया रिपोर्टों के अनुसार तल्लीताल के पास हरिनगर क्षेत्र (स्लॉटर हाउस) में बुधवार को पहले रोजे की नमाज के बाद दो युवक शादाब और साहिल अपने घर को जा रहे थे। मस्जिद से कुछ दूर कुछ युवकों की दोनों की किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई। विवाद इतना बढ़ा कि हाथापाई के बाद दोनों पक्षों ने एक-दूसरे पर हॉकी और धारदार हथियारों से हमला शुरू कर दिया। इससे मौके पर लोगों की भीड़ जमा हो गई। खूनी संघर्ष में दोनों पक्षों के शामिन अंसारी, नवाब, साहिल, शादाब और आरिश घायल हो गए। सूचना मिलने पर तल्लीताल पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने मामला शांत कर घायलों को इलाज के लिए बीडी पांडे अस्पताल भेजा। अस्पताल में डॉक्टरों की टीम ने घायलों का प्राथमिक इलाज किया। शामिन और शादाब की हालत गंभीर होने के कारण हल्द्वानी रेफर कर दिया गया। इनमें वेल्डिंग का काम करने वाले शामिन अंसारी (28) की रास्ते में एंबुलेंस में ही मौत हो गई। एसओ विजय मेहता ने बताया कि हरिनगर निवासी जिशान की तहरीर पर शाहिल, आरिफ, शहाबुद्दीन, बबली और इमरान पर आईपीसी धारा 147, 148, 302, 307 (34) के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। सुरक्षा की दृष्टि से स्लॉटर हाउस क्षेत्र में पुलिस तैनात कर दी गई है।
उधर तनाव इतना बढ़ा कि चिकित्सालय में ही घायल शामिन के परिजनों ने दूसरे पक्ष के शादाब, साहिल आदि पर हमला कर दिया। इस बीच परिजनों ने एक युवक को जमकर पीट दिया। मौके पर मौजूद तल्लीताल व्यापार मंडल की महिला उपाध्यक्ष ममता जोशी ने किसी तरह मामले को शांत किया। इस दौरान घायल युवक किसी तरह जान बचाकर कोतवाली की ओर भाग गया। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों को शांत कराया। इलाज के दौरान अस्पताल पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। उसके बाद कोतवाल अशोक कुमार सिंह और अन्य पुलिस कर्मियों की देखरेख में घायलों का इलाज किया गया।

Ad
यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल…हाईकोर्ट से निलंबित आईएफएस किशन चंद की गिरफ्तारी पर रोक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here