सितारगंज न्यूज : भारतीय सस्कृति व दर्शन से ही विश्व कल्याण सम्भव – श्रीपाल

0
Ad

नारायण सिंह रावत
सितारगंज।
नव वर्ष चैत्र सुदी प्रतिपदा विक्रमी संवत् 2078 के आगमन पर सरस्वती विधा मंदिर इण्टर कालेज के प्रांगण में नव वर्ष के आगमन पर भगवा ध्वज को प्रणाम कर स्वयंसेवकों को बधाईयां दी गईं। मुख्य वक्ता सह प्रान्त कार्यवाह श्रीपाल राणा ने कहा कि भारतीय संस्कृति विश्व की ऐसी सनातन संस्कृति है,विश्व के कल्याण का मार्ग भारत से होकर निकलता है, सम्पूर्ण विश्व को धर्म मार्ग की और ले जाना व शांति की स्थापना भी भारत की ही देन है।आज ही के दिन संघ के आद्य सरसंघचालक डाक्टर केशवराम बलिराम हेडगेवार का जन्मदिन भी है।

Ad

हमारी खबरें अपने मोबाइल पर पाने के लिए नीचे दिये गए लिंक को क्लिक करें

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी…मौसम की मार: वीडियो/ रानीबाग में तीन चिताओं पर मंडराया बहने का संकट

https://chat.whatsapp.com/FRtyqY0WRlHKZxyPPM4AkI

भगवान राम का राज्यभिषेक, भगवान झूले लाल का जन्मदिन, आर्य समाज की स्थापना व आज ही के दिन बृह्मा जी ने सृष्टि की रचना की थी,चेत्र सुदी नव वर्ष की विशेष महत्वा होती है सम्राट विक्रमादित्य ने इसी दिन विक्रमी संवत की स्थापना की थी। इस मौके पर संघचालक हुक्मचन्द,जिला प्रचारक नरेन्द्र,जिला समरसता प्रमुख सन्तोष मिश्र,पूर्व नगर कार्यवाह महेश मित्तल,राजेन्द्र मित्तल,उमराव मनराल,
अनिरुद्ध राय,मदन मोहन मिश्र,अनिल गर्ग,दिनेश मिश्रा,राजकुमार,प्रदीप प्रजापति,महेन्द्र गुप्ता आदि
बारह राणा स्मारक छात्रावास में भी बच्चों ने नव वर्ष प्रतिपदा पर भगवा ध्वज प्रणाम कर विक्रमी संवत् का आगमन दिवस धूमधाम से मनाया गया।

Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here