सितारगंज ब्रेकिंग : गेंहू खरीद केंद्रों में गड़बड़ी पर सितारगंज व काशीपुर के दो प्रभारी निलंबित

0
Ad

नारायण सिंह रावत
सितारगंज।
गेहूं तौल केंद्र में अनियमितता के आरोपों पर उधम सिंह नगर के दो गेंहू तौल केंद्र के प्रभारियों को निलंबित कर दिया गया है। निलंबित होने वाले प्रभारी सितारगंज के बसंतीपुर के यूसीएफ क्रय केंद्र एवं काशीपुर ब्लाक के कुंडेश्वरी स्थित सहकारी समिति गुलजारपुर में तैनात थे। मामले की विस्तृत जांच के लिए उप प्रबंधक यूसीएफ एवं सहकारिता विभाग के एडीओ को सौंपी गई है।
हम आपको बता दें कि ऊधम सिंह नगर के इन खरीद केंद्रों पर गेंहू की खरीद एक अप्रैल से शुरू हुई। खरीद शुरू होते ही डीआर नीरज बेलवाल को कुछ केंद्रों पर अनियमितता की शिकायतें मिल रही थी। जिसके बाद उन्होेंने जांच कमेटी गठित कर सोमवार को सितारगंज के अंजनिया सेंटर में एडीओ अपर्णा ने दिन भर सेंटर पर बैठकर तौल को देखा। जिसमें 250 क्विंटल की तौल हुई। लेकिन केंद्र प्रभारी की ओर से जारी रिपोर्ट में 500 क्विंटल तौल दर्शायी गई थी। उन्होंने इस संबंध में जब केंद्र प्रभारी से जवाब मांगा तो उनका जवाब था कि 10 बजे के पहले ही 250 क्विंटल तौल करा लिया गया था। लेकिन जिन किसानों ने उन्होंने सुबह दस बजे तक 250 कुंतल गेंहू खरीदा था उनके कोई दस्तावेज वे नहीं दिखा सकें टीम ने सभी खरीद संबंधित दस्तावेज जब्त कर लिए हैं। साथ ही उप निबंधक नीरज बेलवाल को रिपोर्ट सौंपी।

Ad

प्रदेश की ताजा खबरों के लिए जुड़े व्हाट्स एप ग्रुप से 👉 Click Now 👈

यह भी पढ़ें 👉  सितारगंज: पुलिस ने चलाया होटलों में चलाया चेकिंग अभियान

यूसीएफ की एमडी इरा उप्रेती ने मामले को गंभीरता से लेते हुए अंजनिया के क्रय केंद्र प्रभारी महिपाल सिंह को निलंबित करने के आदेश जारी कर दिए। उन्हें यूसीएफ के हल्द्वानी कार्यालय से संबद्ध किया गया है। अब इस प्रकरण की विस्तृत जांच यूसीएफ के उप प्रबंधक त्रिलाेचन पाल करेंगे। इसके अलावा काशीपुर के बहुद्​देशीय किसान सहकारी सेवा समिति कुंडेश्वरी स्थित सहकारी समिति क्रय केंद्र गुलजारपुर में निरीक्षण के दौरान जहां 208 क्विंटल गेहूं की खरीद नियमानुसार मिला, जबकि 658 बाेरों यानी 32 हजार 900 क्विंटल ताैल का विववरण नहीं मिला। इसके बाद उप निबंधक नीरज बेलवाल ने केंद्र प्रभारी व‍िनोद कुमार को भी निलंबित कर दिया है। साथ ही मामले की जांच एडीओ संजय नियाल एवं एडीसीओ प्रेम प्रकाश को सौपी है। जांच होने तक जिला कार्यालय से संबद्ध रहेंगे।

Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here