हल्द्वानी : 500 बेड के फैब्रीकेटड अस्पताल के निर्माण को लेकर जिलाधिकारी व डीआरडीओ के प्रोजेक्ट ऑफिसर ने किया मौका मुआयना

0
Ad

हल्द्वानी। जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल की पहल पर कोविड मरीजों के इलाज के लिए राजकीय मेडिकल कॉलेज में डीआरडीओ द्वारा बनाएं जाने वाले 500 बेड के फैब्रीकेटड अस्पताल के निर्माण के लिए डीआरडीओ के प्रोजेक्ट ऑफिसर कोनेरू मेघा साईं रमेश ने सोमवार की दोपहर जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल, मुख्य विकास अधिकारी नरेन्द्र सिंह भण्डारी तथा अन्य विभागीय अधिकारियों के साथ कॉलेज परिसर में मौका मुआयना किया।

Ad

निरीक्षण के दौरान प्रोजेक्ट ऑफिसर कोनेरू मेघा साईं रमेश ने लोक निर्माण विभाग तथा अन्य विभागों से कहा कि वह बनने वाले अस्पताल के लिए अपने विभागों से सम्बन्धित स्टीमेड तीन दिन के भीतर उपलब्ध करा दें तांकि आने वाले दस दिनों के भीतर फैब्रीकेटड अस्पताल का निर्माण प्रराम्भ कर दिया जाए। जिलाधिकारी गर्ब्याल ने जलसंस्थान, पेयजल निगम, विद्युत निगम, लोनिवि के अधिकारियों से कहा कि यह महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट है लिहाजा सभी इस अस्पताल के निर्माण में प्राथमिकता के आधार पर सहयोग करें तथा निरन्तर डीआरडीओं के अधिकारियों के सम्पर्क में रहते हुए समन्वय बना कर कार्य करें।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानीः पूर्व दर्जा मंत्री हरीश पाल गिरफ्तार,बीवी ने लगाया था दहेज उत्पीड़न का आरोप

मुख्य विकास अधिकारी भण्डारी ने बताया कि मेडिकल कॉलेज परिसर के बड़े मैदान में 500 बेड का कोविड अस्पताल बनाया जायेगा जिसमें 100 बेड ऑक्सीजन युक्त होगे तथा 125 आईसीयू बेड भी बनाये जायेगे। उन्होंने बताया कि इस अस्पताल में डॉक्टर एवं पैरामेडिकल स्टॉफ की तैनाती प्रदेश सरकार द्वारा की जायेगी। अस्पताल के स्ट्रेक्चर आदि का निर्माण डीआरडीओ करेगा जबकि इस अस्पताल के निर्माण लोनिवि सहयोग करेगा, बिजली एंव पेयजल लाईनों के निर्माण में विद्युत, जलसंस्थान तथा पेयजल निगम सहयोग करेगा।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी…यूओयू प्रवेश परीक्षा की उत्तर कुंजी जारी

भण्डारी ने बताया फैब्रीकेटेड अस्पताल के निर्माण पर लगभग दस से पंद्रह करोड़ रूपये खर्च होने की सम्भवाना है। उन्होंने बताया कि डीआरडीओं द्वारा निर्माण कार्यो के लिए सामान पहुंचाना शुरू कर दिया गया है। हैंगर व अन्य सामान मेंडिकल कॉलेज में डीआरडीओ द्वारा पहुंचाना शुरू कर दिया है। उन्होंने बताया कि इस प्रोजेक्ट में डीआरडीओ के कोनेरू मुराली कृष्णा, कोनेरू मेघा साईं रमेश, कोनेरू उमा हायमा, अनिल गांधी, पुछाला भास्कर रेडडी, शाइक इम्तयाज भी इस अस्पताल के निर्माण में अपना तकनीकी सहयोग देगे।

यह भी पढ़ें 👉  अंकिता हत्याकांड… तो इस वजह से अलग-अलग बैरकों में बंद हैं अंकिता के हत्यारोपी, मामले की जांच अब इंस्पेक्टर खोलिया के हवाले, संगीनों के साये में वनंतरा रिजार्ट

निरीक्षण के दौरान प्राचार्य मेडिकल कॉलेज डॉ. सीपी भैसोडा, डीआरडीओ के तकनीकी अधिकारी पवन कुमार, उपजिलाधिकारी विवेक राय, अधिशासी अभियंता लोनिवि अशोक चैधरी, अधिशासी अभियंता विद्युत बीएस बिष्ट, परियोजना प्रबंधक पेय जल निर्माण निगम मृदुला सिंह तथा अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here