उत्तराखंड…ब्रेकिंग: इस नामी हास्पीटल के खिलाफ केस दर्ज करने के हुए आदेश, कोरोना निगेटिव महिला के उपचार में कोताही और मरने के बाद गहने साफ करने के आरोप

0
Ad

देहरादून। मसूरी रोड स्थित अस्पताल के डॉक्टरों और स्टाफ के खिलाफ कोर्ट ने आपराधिक केस दर्ज करने का आदेश दिया है। कोर्ट ने राजपुर थाना पुलिस को आदेश दिए हैं।

विशाल अग्रवाल निवासी एकेता एवेन्यू नालापानी ने कोर्ट में अपील की थी, जिसमें उन्होंने बताया कि उनकी मां सावित्री देवी अग्रवाल को 23 अप्रैल 2021 को बीमार होने पर मैक्स अस्पताल में भर्ती कराया गया।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी...ब्रेकिंग: आए थे हरि भजन को ओटन लगे कपास, पूजा करने आया था, मंदिर से राम दरबार की मूर्ति चुरा ले गया नालायक, केस दर्ज

आरोप है कि कोरोना जांच की नेगेटिव रिपोर्ट के बावजूद उन्हें जनरल वार्ड से कोविड आईसीयू में रखा गया। उपचार में कोविड प्रोटोकाल का पालन नहीं किया गया। उपचार के दौरान उनकी दो जून 2021 को अस्पताल में मौत हो गई।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी…ये रास्ते हैं खतरों भरे: नैनीताल-भवाली रोड पर हुआ भूस्खलन

आईसीयू में भर्ती करते वक्त उनकी मां की दो सोने की अंगूठी, एक जोड़ी सोने के टाप्स, एक सोने की चेन, चार सोने के कड़े, दो जोड़ी चांदी के बिछुए उतारकर गायब करने का आरोप है। आरोप है कि कई बार मांगने पर गहने नहीं दिए गए।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी…ब्रेकिंग: विजिलैंस की टीम ने रिश्वत लेते रंगे हाथों दबोचा चकबंदी अधिकारी का पेशकार

अपील में कहा कि अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक समेत पांच डॉक्टरों और संबंधित स्टाफ की लापरवाही से उनकी मां की जान गई। एसीजेएम तृतीय निहारिक मित्तल गुप्ता की कोर्ट ने राजपुर थाना पुलिस को आदेश दिया कि आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर जांच की जाए।

Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here