कमजोर होती रिश्तों की डोर : परिजन नहीं आ रहे शवों को लेने, एसडीआरएफ ने किया 6 लावारिस शवों का अंतिम संस्कार

0

मोटाहल्दू। इस कोरोनाकाल में रिश्तों की डोर भी कमजोर होती जा रही, कोरोना होने के बाद परिजन मरीज को जैसे भूल ही जा रहे है। परिजन कोरोना मरीज की मौत बाद उनके शव तक नहीं लेने आ रहे है। इन शवों का एसडीआरएफ ने हिंदू रीति रिवाज से अंतिम संस्कार किया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड…नाचने से मना किया तो बारातियों ने पीट दिया दुल्हन का पिता

दरअसल हल्द्वानी मोर्चरी में काफी समय से 6 कोरोना संक्रमित लावारिस शव रखें थे, जिनकी हालात बहुत ही ख़राब हो गयी थी और उनके परिजन भी शवों को लेने नहीं आए। ऐसे में हल्द्वानी एसडीआरएफ की टीम ने 6 लावारिस शवों का गौलापार रोड़ स्थित अस्थाई श्मशान घाट में हिंदू रीति रिवाज से अंतिम संस्कार किया। टीम का नेतृत्व एसडीआरएफ के कुमाऊं प्रभारी इंस्पेक्टर गजेंद्र सिंह परवाल ने किया। उक्त टीम में एसआई राजेश जोशी, एसआई अर्जुन सिंह व दो सब टीम द्वारा पीपी किट पहनकर भारत सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार अंतिम संस्कार किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here