एम्स ऋषिकेश की कोविड -19 टास्क फोर्स ने एम्स परिसर में बांटे निशुल्क मास्क

0
Ad

ऋषिकेश। एम्स ऋषिकेश के तत्वावधान में गठित कोविड -19 कम्युनिटी टास्क फ़ोर्स द्वारा एम्स परिसर में मरीजों, उनके तीमारदारों व उन्नत भारत अभियान के अंतर्गत गोद लिए पांच गांवों के ग्राम प्रधानों को निशुल्क मास्क वितरित किए गए। इस दौरान ग्राम प्रधानों को कोरोना वायरस को लेकर जागरूक किया गया। एम्स निदेशक पद्मश्री रवि कान्त एवं संकायाध्यक्ष मनोज गुप्ता के दिशा निर्देश व देख-रेख में संस्थान की और से गठित कोविड-19 कम्युनिटी टास्क फ़ोर्स द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में जन-जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है।

Ad

गौरतलब है कि एम्स ऋषिकेश के सोशल आउटरीच सेल के नोडल अधिकारी डा. संतोष कुमार एवं सामाजिक संगठनों के सहयोग से गतवर्ष विजय दशमी के पावन अवसर पर 25 अक्टूबर 2020 को मास्क बैंक की शुरुआत की गई, मास्क बैंक का उद्देश्य नागरिकों को मास्क उपलब्ध कराना और इस वैश्विक महामारी को निरमूल करने में सहभागिता सुनिश्चित करना है। उन्होंने बताया कि अभी भी मास्क बैंक में एक लाख (1,00,000) से अधिक मास्क उपलब्ध हैं, जो लोग कोरोना के चलते आर्थिक संकट की वजह से मास्क नहीं खरीद पा रहे हैं, उन तक मास्क को पहुंचाना हमारा प्रयास है। एम्स के मास्क बैंक की ओर से अब तक आसपास के विभिन्न समुदायों, मलिन बस्तियों एवं विद्यालयों में 50,000 से अधिक मास्क वितरित किए गए है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड… एक अक्तूबर से दिल्ली तक नहीं जा पाएंगी उत्तराखंड रोडवेज की बसें!

जिसके तहत एम्स परिसर में नोडल अधिकारी डॉ. संतोष कुमार द्वारा ग्राम प्रधानों को 2000 से अधिक निशुल्क मास्क वितरित किए गए, जिसमें कि ग्राम प्रधान गंगा भोगपुर, श्यामपुर, रानीपोखरी, थानों व रायवाला के प्रधान उपस्थित थे। नोडल अधिकारी ने बताया कि जिन लोगों को मास्क की आवश्यकता हो ऐसे लोग एम्स के मास्क बैंक से मास्क प्राप्त कर सकते हैं। जैसा कि ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से पहले भी नोडल अधिकारी ग्राम प्रधानों को कोविड-19 से संबंधित जानकारी दे चुके हैं। इस दौरान ग्राम प्रधानों का कहना था कि अगर गांव में किसी को कोविड -19 से कोई परेशानी हो या किसी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण दिखाई दें तो क्या उपाय किए जा सकते हैं?

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी…मौसम की मार: वीडियो/ रानीबाग में तीन चिताओं पर मंडराया बहने का संकट

नोडल अधिकारी डॉ. संतोष कुमार ने आश्वस्त किया कि इस विकट परिस्थिति में हम सड गांव वालों के साथ हैं, लिहाजा जिस किसी को भी कोविड से संबंधित या गांव से जुड़ी कोई भी परेशानी हो रही हो अथवा जो भी लोग होम आइसोलेशन में हैं, वह लोग हमसे ऑनलाइन जुड़कर अपनी समस्याओं से अवगत करा सकते हैं। इस दौरान सोशल आउट्रीच सेल द्वारा ग्रामीणों को एक हेल्पलाइन नम्बर उपलब्ध कराया गया। जिस पर ग्राम प्रधान कॉल करके गांव के लोगों के स्वास्थ्य संबंधी जानकारी दे सकते हैं और उनका समाधान व उपचार भी ऑनलाइन के माध्यम से किया जाएगा। बताया गया है कि उक्त फ़ोन नम्बर पर प्रतिदिन सुबह 10 से 1 बजे तक कॉल कर सकते हैं। उक्त फ़ोन नम्बर 8923935348 है।

यह भी पढ़ें 👉  सुप्रभात…आज का पंचांग, इतिहास और अन्य महत्वपूर्ण जानकारियों के साथ जानें आचार्य पंकज पैन्यूली से अपना राशिफल

इस दौरान ग्रामीणों को सरकार द्वारा गाइडलाइन के पालन करने के लिए प्रेरित किया गया व डबल मास्क का उपयोग करने को कहा गया। उन्होंने यह भी जानकारी दी की इस महामारी के बढ़ते प्रकोप से बिल्कुल घबराएं नहीं, लिहाजा जब भी आपको लगता है कि कोई भी लक्षण जैसे-बुखार, खांसी, शरीर में दर्द हो तो आपको स्वयं को होम आइसोलेट करना है।

कोविड19 की इस विषम परिस्थिति को मद्देनजर रखते हुए नोडल अधिकारी द्वारा एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म तैयार किया गया है, जिससे जो लोग कोविड-19 संक्रमण से ग्रस्त हैं या होम आइसोलेशन में हैं, वह ऑनलाइन जुड़ सकते हैं। सभी विशेषज्ञ रोज शाम 5 से 6 कम्युनिटी एवं युवाओं कि लिए फेसबुक पेज https://www.facebook.com/Covid-19-community-task-force-115493686989650
पर लाइव रहेंगे।

Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here