हल्द्वानी…ब्रेकिंग न्यूज : भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा की पदाधिकारी की ब्लैकमेलिंग से तंग बेस हास्पीटल के चतुर्थ श्रेणी कर्मी ने खाया जहर, खतरे में जान

0
Ad

हल्द्वानी। सोबन सिंह जीना बेस चिकित्सालय के एक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी ने विषपान करके जान देने का प्रयास किया। उसकी हालत अभी भी खतरे से बाहर नहीं है। उसके बेटे द्वारा देर रात कोतवाली हल्द्वानी में दी गई तहरीर के अनुसार उसके पिता ने गौलापार निवासी भारतीय जनता महिला मोर्चा की पदाधिकारी की ब्लैक मेलिंग से तंग आकर जान देने का प्रयास किया। पुलिस ने महिला के खिलाफ जबरन वसूली के आरोप में मुकदमा दर्ज कर लिया है।


मिली जानकारी के अनुसार बेस चिकित्सालय के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी राम सिंह ने आज दोपहर अपने आवास पर ही विषपान कर लिया। परिजनों ने जब उनकी हालत बिगड़ते देखी तो आनन फानन में उन्हें बेस चिकित्सालय लेकर पहुंचे। जहां चिकित्सकों ने बताया कि उन्होंने विषपान कर लिया है। चिकित्सकों के प्रयास से राम सिंह कुछ देर के लिए बेहोशी से बाहर आए और अपने परिजनों से बात भी की।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड…BREAKING NEWS : बच्चा बदलने के आरोप में सरकारी अस्पताल व नर्स पर मुकदमा दर्ज

हल्द्वानी…पौधारोपण : साहू की अगुवाई में यूथ कांग्रेस ने कालीचौड़ मंदिर गेट के आसपास लगाए पौधे

इस दौरान उन्होंने बताया कि गौलापार के सुल्तान नगरी निवासी एक महिला जो अपने आप को भारतीय जनता पार्टी की महिला मोर्चा की पदाधिकारी भी बताती है। वह उन्हें शारीरिक शोषण के झूठे आरोप में फंसाने की धमकियां देकर उनसे रूपये देने का दवाब बना रही थी। इसी वजह से वे पिछले कुछ समय से अवसाद में चल रहे थे।

दु:खद… नहीं रहे सुरमयी आवाज के मालिक भूपिन्दर सिंह, सुनिए उनके कुछ गीत

महिला द्वारा ज्यादा दवाब डालने पर उन्होंने आज विषपान करके अपनी जान देने का प्रयास किया। इसके बाद राम सिंह फिर बेहोश होगए। उनके बेटे राहुल सिंह ने पुलिस को बताया कि चिकित्सकों ने शाम को भी उसके पिता की हालत को खतरे से बाहर नहीं बताया है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड… नदी किनारे पार्टी करने पर 40 पर हुई कार्रवाई

बहेड़ी… नार्थ ईस्टर्न रेलवे मजदूर यूनियन की भोजीपुरा शाखा की कार्यकारिणी की आम बैठक


पुलिस को दी गई शिकायत में राहुल ने कहा है कि पिछले छह माह से राम सिंह उक्त महिला के संपर्क में थे। महिला चौपहिया वाहन चलाने के समय सहयोग मांगने से राम सिंह के सम्पर्क में आई थी। इसके बाद महिला ने अपनी पारिवारिक परेशानियां बता कर राम सिंह का भावनात्मक रूप से समर्थन हासिल कर लिया। राहुल के अनुसार काफी दिनों से उसके पिता तनावमें दिख रहे थे। वे न तो ज्यादा हंस बोल रहे थे और नहीं ठीक से खाना ही खा रहे थे। परिजनों द्वारा परेशानी पूछने पर वे बात को टाल जाते।

हिमाचल…ब्रेकिंग न्यूज : किन्नौर में बादल फटा, बाढ़ ने मचाई तबाही, घरों को छोड़ सुरक्षित स्थानों की ओर भागे लोग

आज दोपहर 2 बजे अचानक उनका स्वास्थ्य बिगड़ा और बाद में राम सिंह ने स्वयं ही खुलासा किया कि उक्त महिला उन्हें रूपये ऐंठने के लिए ब्लैकमेल कर रही है। बेटे की शिकायत पर पुलिस ने महिला के खिलाफ आईपीसी की धारा 384 के तहत मामला दर्जकर लिया है।

यह भी पढ़ें 👉  सितारगंज…कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडेय ने ओवरहेड टैंक का किया शुभारंभ

उत्तराखंड… मौसम: जारी हुआ दून—नैनीताल समेत इन जिलों के लिए बारिश का रेड अलर्ट


क्या है आईपीसी की धारा 384
भारतीय दंड संहिता की धारा 384 के अनुसार, जो कोई ज़बरदस्ती वसूली करेगा, वह दोनों में से किसी भांति के कारावास से, जिसकी अवधि तीन वर्ष तक की हो सकेगी, या जुर्माने से, या दोनों से, दण्डित किया जाएगा । कारावास की अवधि को तीन वर्ष तक बढ़ाया जा सकता है, या आर्थिक दण्ड से या दोनों से दण्डित किया जाएगा।
यह एक गैर-जमानती, संज्ञेय अपराध है और किसी भी मजिस्ट्रेट द्वारा विचारणीय है। यह अपराध समझौता करने योग्य नहीं है।

Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here