नालागढ़…राजनीतिः VIDEO/ कांग्रेस की खेमेेबाजी से नाराज लखविंदर राणा को भाजपा के पहले ही कार्यक्रम में झेलने को मिली गुटबाजी

0
Ad

नालागढ़। इस विधानसभा क्षेत्र में इन दिनों सत्ताधारी भाजपा के अंदर भारी खलबली मची हुई है। पिछले तीन दिनों के राजनैतिक घटनाक्रम के बाद संगठन् में गुटबाजी सतह पपर आ गई है। ताजे ताजे पर्टी में वापसी करने वाले नालागढ़ के विधायक लखविंदर राणा के स्वागत में भले ही भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं का जमावड़ा लगा रहा लेकिन पूर्व विधायक केएल ठाकुर और उनके समर्थक इस कार्यक्रम से दूर ही रहे।

Ad


उनके अलावा मंडल भाजपा अध्यक्ष बलदेव ठाकुर, जिला भाजपा सचिव श्रवण चंदेल और उनके समर्थक भी कार्यक्रम मं शामिल नहीं हुए। हालांकि, तीसरे धड़े में शामिल हरप्रीत सिंह सैणी अपने समर्थकों सहित समारोह में शामिल हुए।

यह भी पढ़ें 👉  सुप्रभात…आज का पंचांग, आज का इतिहास, करें मां ब्रह्मचारिणी का पूजन और आचार्य पंकज पैन्यूली से जानें अपना आज का राशिफल

दिल्ली में भाजपा की सदस्यता लेने के बाद नालागढ़ लौटे राणा का स्वागत लोक निर्माण विभाग के विश्राम गृह में किया गया। यहां भाजपा जिला अध्यक्ष आशुतोष वैद्य समेत अन्य नेता मौजूद रहे। वैद्य ने कहा कि राणा भाजपा के ही कर्मठ कार्यकर्ता थे। रास्ता भटक गए थे लेकिन अब अपने घर आ गए हैं। वहीं, लखविंद्र सिंह राणा ने कहा कि कांग्रेस में उनका दम घुट रहा था। एक राजघराने के गुट ने हमेशा उनकी अनदेखी की।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी…अमानत में खयानत : 5 लाख कर्ज देने के नाम पर पांच तोला सोना, नकदी और ब्लैंक चेक रख लिया, केस दर्ज

वे जनता के सहयोग और अपने दम पर कांग्रेस के लिए दो बार इस सीट को निकालने में सफल हुए। जबकि कांग्रेस हाईकमान उन्हें हराने का प्रयास करता रहा। वह पहले भी भाजपा में 12 साल रहे हैं और अब दोबारा अपने घर में आकर बेहतर महसूस कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी की नीतियों और विचारधारा से प्रभावित होकर उन्होंने ऐसा कदम उठाया है।


दूसरी ओर सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार भाजपा के पूर्व विधायक केएल ठाकुर ने बुधवार देर रात अपने समर्थकों के साथ अपने घर पर बैठक की। इसमें स्वागत समारोह में न जाने को लेकर फैसला लिया गया। बैठक में आगामी रणनीति पर भी चर्चा हुई। जिसके बाद पूर्व विधायक और उनके समर्थक स्वागत समारोह में नहीं पहुंचे।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड… त्योहारी सीजन में ट्रेनें फुल होने से बढ़ेंगी रेल यात्रियों की मुश्किलें, इन ट्रेनों में बढ़ी वेटिंग लिस्ट


लखविंद्र सिंह राणा के साथ यूथ कांग्रेस के सचिव अधिवक्ता योगेश्वर राणा और ध्वज भंवर सिंह भी भाजपाई हो गए हैं। दोनों ने ही कांग्रेस छोड़कर भाजपा का दामन थाम लिया है।

नालागढ़, विधायक लखविंदर राणा, कांग्रेस की खेमेबाजी से निकले भाजपा की गुटबाजी में फंसे

Ad

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here